कांग्रेस की बढी मुश्किलें

Posted by

मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ज्‍यादा दिन आराम से नहीं बैठ बाते। उनके विधायको का असंतोष उन्‍हें बार बार दिल्‍ली की दोड लगवा ही देता है। एक बार ि‍फर विधायकों का एक धडा गहलोत की खिलाफत में उतर आया है। यही कारण है कि मुख्‍यमंत्री को अपनी सोमवार को होने वाली जन सुनवाई भी स्‍थगित करनी पडी। कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों ने विधानसभा सत्र के बीच ब्रेक मिलते ही फिर से दिल्ली में डेरा डाल दिया है। असंतुष्ट खेमे के करीब 15 विधायक शनिवार से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। इन विधायकों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात के अलावा कपूरथला हाउस में राज्यपाल शिवराज पाटिल से भी मुलाकात की है। असंतुष्टों में अधिकांश वे ही विधायक शामिल हैं जिन्होंने विधायक दल की बैठक में हंगामा करने की रणनीति बनाई थी। असंतुष्ट विधायक रविवार को भी दिल्ली में रहे। असंतुष्ट खेमा अब अपने साथ और विधायकों को शामिल कर ताकत जुटाने का प्रयास कर रहा है। उधर असंतुष्टों की हर गतिविधियों पर सत्ता खेमा भी बारीकी से नजर रखे हुए हैं। इसके चलते अभी असंतुष्ट विधायक आगामी रणनीति का खुलासा नहीं कर रहे हैं। विधायक दल की बैठक में हंगामा कर असंतुष्टों ने बजट सत्र की शुरूआत में ही अपने मंसूबों का अहसास करवा दिया था। इसके बाद इस खेमे को दो विधायकों ने तो खुले तौर पर सरकार में उपेक्षा होने और उनकी सुनवाई नहीं होने के बयान दिए थे। विधानसभा में भी असंतुष्टों की गतिविधियां जारी थी और इस खेमे के कई विधायक चाय पार्टी के बहाने लॉबिंग करते नजर आए थे।

Advertisements