आखिर धरे गए राठौड़

एक कहावत है, बकरव् की अम्मा आखिर कब तक खैर मनाएगी। गुरुवार को यह कहावत जयपुर में चरितार्थ होती नजर आई। सीबीआई ने आखिरकार राजेन्द्र राठौड़ को गिरफ्तार कर ही लिया। बहुचर्चित दारिया एनकाउंटर मामले में सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद जिस तरह से एक के बाद एक एसओजी के अफसर गिरफ्त में आ रहे थे साफ था कि ष्ड़यंत्र में शामिल माने जा रहे विधायक राजेन्द्र सिंह राठौड़ कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं। सीबीआई ने पहले राठौड़ को बुधवार को तलब किया था। लेकिन महावीर जयंती के कारण उनसे पूछताछ एक दिन टाल दी गई। गुरुवार को जब सीबीआई के बुलावे पर राठौड़ जयपुर कार्यालय पहुंचे तो सीबीआई ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। राठौड़ यहां अपने समर्थकों के साथ पहुंचे थे। जब उनके समर्थकों को पता चला कि राठौड़ को गिरफ्तार कर लिया गया है तो उन्होंने सीबीआई के खिलाफ नारेबाजी भी की। नारेबाजी करने वालों में भाजपा के कई विधायक शामिल थे। बाद में ये सभी यहां से चलते बने। राठौड़ ने गिरफ्तारी से पहले कहा कि उन्हें राजनीतिक षडयंत्र के तहत फंसाया गया है। उन्हें न्याय में विश्र्वास है। साथ ही उन्होंने अपने समर्थकों को संयम बरतने की बात कही। दारिया एनकाउंटर मामले में यह 13वीं गिरफ्तारी है।

Advertisements