राजनैतिक रंग चढा, गिरफतारी के विरोध में बंद

प्रदेश के बहुचर्चित दारिया फर्जी एनकाउंटर मामले ने अब सियासी रंग ले लिया है। पूर्व मंञी और माजूदा विधायक राजेन्‍द्र सिहं राठौड की गुरुवार को हुई गिरफतारी के बाद शनिवार को राजस्‍थान बंद का आहवान किया गया था। भारतीय जनता पार्टी और राजपूत समाज ने बंद कराया। बंद का जयपुर में मिलाजुला असर देखने को मिला। बंद समर्थकों ने कई स्थानों पर तोडफ़ोड़ की। चारदीवारी में बंद समर्थकों और दुकानदारों के बीच झड़प हुई। राजपूत करणी सेना के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने अलग अलग इलाकों में रैली निकालकर दुकानें बंद कराई। इस दौरान कई जगह बसों और दुकानों में तोडफ़ोड़ की गई। झोटवाड़ा पुलिया के नजदीक एक मिनी बस के शीशे तोड़ दिए गए। वहीं रेलवे स्टेशन और पोलोविक्ट्री के पास दो दुकानों में तोडफ़ोड़ की गई। चारदीवारी में बंद के दौरान दुकानदारों के साथ बंद समर्थकों की झड़प हो गई। छोटी चौपड़ पर बंद करा रहे एक जने को पुलिस की ओर से पकड़े जाने पर यहां हंगामा खड़ा हो गया। बाद में राजपूत समाज के लोग रैली के माध्यम से बड़ी चौपड़ पहुंचे। चारदीवारी, स्टेशन रोड, खातीपुरा बाजार, झोटवाड़ा में बंद का व्यापक असर रहा। जबकि बाहरी इलाकों सीकर रोड, मालवीय नगर, मानसरोवर, राजापार्क सहित अन्य इलाकों में आंशिक असर रहा।