फर्जी डेथ सर्टिफिकेट से देता रहा चकमा

दसवीं की फर्जी डिग्री या एससी एसटी कोटे में नौकरी पाने के लिए फर्जी दस्तावेजों की बात अब तक सुनने में आती  रही है। लेकिन या कोई व्यक्ति खुद का डेथ सर्टिफिकेट बनवाकर भी धोखा दे सकता है! जयपुर में हालिया सामने आए एक उदाहरण ने पुलिस को अचम्भे में डाल दिया है। सरपंच से खुद का फर्जी मृत प्रमाण पत्र बनाकर, वांटेड अपराधी छह साल तक पुलिस को चकमा देता रहा। इस शातिर के खिलाफ अलग अलग थानों में आधा दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। शातिर कालूराम बागरिया जब भी पुलिस की गिरफ्त में आया, उसने हर बार एक नया पता लिखा दिया। इतना ही नहीं इसके बाद शातिर अपने बड़े भाई से मिलकर खुद का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा देता था। चाकसू और शिवदासपुरा थानों में दर्ज मामलों के दौरान इसने यही तरीका अपनाया। लालकोठी थाना पुलिस ने बुधवार को इसे अजमेरी गेट पर पकड़ लिया। कालूराम अजमेरी गेट पर गुबारे बेच रहा था। पुलिस पूछताछ के दौरान कालूराम ने अपने भाई और सरपंच की मदद से फर्जी मृत प्रमाण पत्र बनवाने की बात कबूल की है।

 

Advertisements