18 लाख रुपए लेकर छोड़ी तीन साल की बच्ची

जयपुर में पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम को एक साल हो गया। लेकिन पुलिस की कार्यशैली में ऐसा कोई चमत्कारिक अंतर नजर नहीं आया कि उसकी वाह वाह हो सके। शुक्रवार को जयपुर पुलिस की ऐसी नाकामी नजर आई कि एक परिवार को लाखों रुपए की रेंसम देकर अपनी बच्ची को किडनैपर्स से छुड़ाना पड़ा। झोटवाड़ा में रहने वाले एक एडवोकेट की बेटी का बदमाशों ने अपहरण कर लिया। किडनैपर्स  ने मोटी रकम की डिमांड रखी। पुलिस को सूचना मिली। अधिकारी सक्रिय हुए, नाकाबंदी कराई गई। लेकिन यह मुस्तदैती कोई काम न आई। अपनी बेटी को छुड़ाने के लिए साढ़े अट्‌ठारह लाख की फिरौती देनी पड़ी एडवोकेट परिवार को। बच्ची की उम्र तीन साल है।  एडवोकेट विमल शर्मा की बेटी आकृति सुबह स्कूल जाने के लिए घर के बाहर वैन का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान बाइक सवार तीन बदमाशों ने आकृति का अपहरण कर दिया। बताया जा रहा है कि वैशाली नगर के वैभव मॉल के पास परिवार वालों ने किडनैपर्स को साढ़े अट्‌ठारह लाख रुपए दिए। पैसे सौंपने के कुछ देर बाद एक शख्स आकृति को पड़ौस के मकान में छोड़ गया। वारदात की सूचना मिलते ही एडवोकेट के घर पर रिश्तेदारों और मित्रों की भीड़ लग गई।

Advertisements