शनि भक्ति में मगन रहा जयपुर

Posted by

दूसरी काशी के नाम से पुकारी जाने वाली गुलाबी नगरी इस शनिवार भक्ति रंग में रंगी दिखी। इस शनिवार को अमावस्‍या भी थी। शनि अमावस्या पर शहर के शनि मंदिरों में जगह-जगह शनिदेव का गुणगान शुरू हुआ। शनिश्चरी अमावस्या होने से कारण शनि की साढ़े साती व ढैया के निवारण के लिए श्रद्धालु शनि की आराधना के साथ-साथ शनिदेव को तेल, वस्त्र व सप्त धान्य का दान किया। शहर के मंदिरों में शनि अमावस्या पर शनि देव को तेलाभिषेक, जलाभिषेक कर मनमोहक शृंगार किया गया। इसके साथ ही मंदिरों में भक्तिगीतों के साथ ही विभिन्न आयोजन शुरू हुए। मोहल्ला डाकोतान के शनि मंदिर में शनिदेव का अभिषेक कर मनमोहक शृंगार किया गया। बापू नगर के सिद्धपीठ शनि धाम मंदिर में पुजारी शंकरलाल के सान्निध्य में 51 किलो तेल से शनिदेव का अभिषेक किया जाएगा। बगरूवालों का रास्ता के शनि धाम में विशेष शृंगार किया गया। इस मौके पर शनिदेव के भजनों की रसधार बहती रही। एमआई रोड पर शनि मंदिर और ओटीएस चौराहा के शनि मंदिर में भी विभिन्न आयोजन हुए। शनि अमावस्या पर वाटिका के दिगंबर जैन मंदिर में मुनिसुव्रतनाथ नवग्रह अरिष्ट निवारक विश्व शांति महायज्ञ का आयोजन किया गया।सुबह 6:30 बजे मंगल पाठ, पंचामृत अभिषेक, वृहद शांतिधारा व जिनेंद्र अर्चना की गई।

Advertisements