बाबा साहब के नाम पर बनेगी यूनिवर्सिटी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार को यहां मुख्यमंत्री कार्यालय में आयोजित डॉ. भीमराव अम्बेडकर फाउण्डेशन की बैठक में फाउण्डेशन की समस्त गतिविधियों के साथ ही ग्राम मूंड़ला स्थित भवन में ही डॉ. भीमराव अम्बेडकर विधि विश्वविद्यालय का संचालन करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा विधानसभा में शुक्रवार को विनियोग एवं वित्त विधेयकों के पारित करने के दौरान विधिक शिक्षा में सुधार एवं एक रूपता लाने के उदेश्य से जयपुर में भारत रत्न बाबा साहब के नाम पर विधि विश्वविद्यालय स्थापित करने की घोषणा की गयी थी। इस घोषणा के एक दिन बाद ही गहलोत की पहल पर विश्वविद्यालय के सफल संचालन के लिए स्थान भी सुनिश्चित कर दिया गया। इस महत्वपूर्ण निर्णय से बाबा साहब के विचारों, दर्शन, उनके सामाजिक तथा सार्वजनिक जीवन में दिये गये योगदानों का बेहतर अध्ययन एवं शोध सुनिश्चित हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अम्बेडकर फाउण्डेशन सामाजिक समरसता का माहौल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाये जिससे समाज के सभी वर्गों में भाईचारा एवं आपसी सद्भाव बना रहे। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी के बीच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा डॉ. भीमराव अम्बेडकर के विचारों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए, जिससे वे उनके विचारों का मर्म समझ सकें एवं उनमें किसी प्रकार की भ्रांति नहीं रहे। उन्होंने कहा कि फाउण्डेशन के विकास में धन की कमी नहीं आने दी जाएगी। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि डॉ. भीमराव अम्बेडकर फाउण्डेशन का प्रशासनिक विभाग अब कला, साहित्य एवं संस्कृति विभाग की बजाय उच्च शिक्षा विभाग होगा। फाउण्डेशन की शाषी परिषद में उच्च शिक्षा मंत्री तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री को पदेन उपाध्यक्ष के रूप में शामिल किया जायेगा।

Advertisements