रूठीं मेयर बैठक छोड़कर ही चली गईं

नगर निगम के हालात काफी खराब हो चुके हैं। मेयर की जिद और सीईओ के अहम के कारण शहर के विकास के काम हैं कि हो ही नहीं रहे। बुधवार को मेयर और भाजपा पार्षदों के बीच खींचतान के चलते कार्यकारिणी समिति की बैठक एक बार फिर हंगामे की भेंट चढ़ गई। निगम मुख्यालय में हुई इस बैठक में बदहाल पड़ी रोड लाइट और सफाई व्यवस्था का मुद्दा ही छाया रहा। हंगामे के कारण एक भी प्रस्ताव पास न हो सका और मेयर भी बैठक बीच में ही छोड़कर चली गई। मेयर के ऐसे रूठ कर चले जाने की चर्चा पूरे दिन रही।