जल गए प्‍लास्टिक पाइप

भट्टा बस्ती इलाके में शुक्रवार को खंडेलवाल कॉलेज के पीछे सेक्टर 5 स्थित खाली भूखंड में पड़े प्लास्टिक के पाइपों में आग लग गई। घटनास्थल पर पहुंची छह दमकलों ने काफी फेरे लगाकर करीब पौन घंटे में आग पर काबू पाया। आग की तेज लपटों को देखते हुए अनहोनी के अंदेशा होने से आसपास के मकानों को खाली करवा दिया गया। वहीं, काफी संख्‍या में स्थानीय लोग अफरा तफरी मचने पर अपने घरों से बाहर आ गए। जानकारी के अनुसार पिछले काफी दिनों से सामुदायिक भवन के लिए प्रस्तावित भूखंड में पीएचईडी विभाग के प्लास्टिक के पाइप पड़े थे। भूखंड के खाली होने से स्थानीय लोग यहीं कचरा फेंक देते है। सुबह 11 बजे बिजली के तारों में शार्ट सर्किट से निकली चिंगारियां कचरे में लग गई। धीरे धीरे आग फैलती हुई पाइपों में चली गई। इससे आग भड़क गई और तेजी से आसपास के क्षेत्र में काला धुंआ फैल गया। इससे स्थानीय लोगों में अफरा तफरी मच गई। आग की तेज लपटों व धुंए को देखकर वे दौड़कर बाहर आ गए। सूरज की तेज किरणों ने गुरूवार को अंगारों की शक्ल ले ली। तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पार होने से सारा शहर बेहाल नजर आया। गर्मी से बचने के लाख जतन के बावजूद लोगों को राहत नहीं मिली। पिछले 13 साल में ऎसा तीसरी बार हुआ है, जब मई में शहर का पारा 45.2 डिग्री पहुंचा हो। इससे पहले 6 मई 2001 को तापमान 45.2 डिग्री और 23 मई 2010 को 45.7 डिग्री पहुंचा था। मौसम विभाग के अनुसार मौसम साफ रहने से गर्मी के तेवर तीखे रहने के आसार है।