सफाई देते रहे कांग्रेसी नेता

प्रदेश कांग्रेस में सोमवार का दिन सफाई देने में ही बीता। दिन भर पदाधिकारी तबादला मामले में सफाई देते रहे। डीडवाना के विधायक डूडी भले ही अपने बयान से पलट रहे हैं, लेकिन खाचरियावास, सहारण ने रविवार को अपनी ही पार्टी पर जमकर जहर उगला। सोमवार को पीसीसी में पदाधिकारियों के सफाई देने का दौर चला। प्रदेश सचिव गिर्राज गर्ग तो तबादला प्रक्रिया में ही बदलाव की हिमायत करते नजर आए। जन अभिभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष मुमताज मसीह की मानें तो एक विधायक की चार पांच डिजायर आती हैं। एक काम हुआ दो नहीं भी हुए। संसदीय सचिव गिर्राज मलिंगा तो पूरे बवाल की जानकारी मीडिया से ही मिलने की बात कहते हैं। उनका कहना है कि तबादलों में मंत्री, एमपी, एमएलए यहां तक की प्रधान तक की डिजायर का ध्यान रखा गया है। थोड़ी बहुत नाराजगी तो चलती रहती है।