सात साल की सजा

बालिका सुधार गृह में नाबालिग बालिका के साथ दुष्कर्म करवाने में सहयोग करने व जबरन गर्भपात मामले में दो जनों की सात सला की सुनाई गई। महानगर की महिला उत्पीडऩ मामलों की विशेष अदालत ने आरोपी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी सुरजा देवी व रामजीलाल को सात सात साल कैद की सजा सुनाई। अदालत ने दोनों जनों पर तीन तीन हजार रुपए जुर्माना भी लगाया।