जाखड हुआ फरार

राजस्थान की सियासत में तूफान लाने वाले भंवरी देवी हत्याकांड में गुरुवार को नाटकीय मोड़ तब आ गया जब इस मामले के मुख्य आरोपी बिश्नाराम का अहम सहयोगी कैलाश जाखड़ अदालत से फरार हो गया। बिश्नाराम और कैलाश जाखड़ एक दूसरे मामले में गुरुवार को पेशी पर आए थे। इस दौरान उनके साथ एक और आरोपी भी था। सुनवाई के बाद जब ये लोग कोर्ट से बाहर आ रहे थे तभी वहीं खड़ी बोलेरो में सवार लोगों ने हवाई फायर कर इन लोगों को छुड़ाने की कोशिश की। इस अफरातफरी का फायदा उठाकर कैलाश जाखड़ और एक अन्य आरोपी तो हमलावरों के सहयोग से फरार हो गए, लेकिन बिश्नाराम फरार नहीं हो पाया। उसे एक सिपाही ने पकड़ लिया। इस दौरान हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति के छर्रे लगे हैं। पुलिस ने नाकाबंदी कर तलाश तेज कर दी है। लेकिन अभी तक कोई पकड़ में नहीं आया है। कैलाश जाखड़ के फरार हो जाने से भंवरी मामले की सुनवाई प्रभावित हो सकती है। इधर जेल पुलिस ने घटना के तुरंत बाद विश्नाराम को जेल में शिफ्ट कर दिया गया है।  ये वारदात जोधपुर में हुई। गौरतलब है कि इस मामले की सुनवाई जयपुर जोधपुर अजमेर में चल रही है।