ऑटो चालक एक मत नहीं

डीजल की बढ़ी रेट के खिलाफ गुरुवार को भारत बंद के मुद्दे को लेकर शहर के ऑटो चालकों में दो फाड़ हो गई हैं। ऑटो चालकों के एक गुट ने इस दिन ऑटो बंद रखने का एलान किया है तो दूसरे गुट ने साफ कर दिया है कि इस दिन ऑटो चलेंगे और स्कूली बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। ऑटो रिक्शा चालक संघर्ष समिति ने बुधवार सुबह झालाना स्थित परिवहन विभाग के कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उन्होंने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बढ़ी रेट को वापस लेने की मांग की। समिति के अध्यक्ष उमराव कुरैशी व कोषाध्यक्ष कुलदीप सिंह ने बताया कि वे बंद का पूरी तरह से समर्थन करते हैं। इस दिन शहर में ऑटो नहीं चलेंगे। उनका आंदोलन 21 सितंबर तक चलेगा। वे गुरुवार को परिवहन विभाग जगतपुरा और शुक्रवार को स्टेच्यू सर्किल पर प्रदर्शन करेंगे।  ऑटो चालक संघर्ष समिति के अध्यक्ष अमर सिंह का कहना है कि वे बंद को समर्थन नहीं देंगे। इस दिन ऑटो आम दिनों की तरह चलेंगे। स्कूली बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। सभी स्कूलों में निर्धारित समय पर ऑटो पहुचेंगे। सवारी उठाने के मामले में ऑटो चालक अपने विवेक से निर्णय ले सकता है।

Advertisements