अतिक्रमण हटाने में अब निगम भी शामिल

अमानीशाह नाले में सुशीलपुरा पुलिया के आगे आबादी क्षेत्र के अतिक्रमण अब जेडीए और नगर निगम संयुक्त रूप से हटाएंगे।इससे पहले अतिक्रमियों को नगर निगम नोटिस जारी करेगा। मुख्य सचिव सी.के. मैथ्यू के हस्तक्षेप के बाद गुरुवार को यह फैसला किया गया। इससे पहले आबादी क्षेत्र के अतिक्रमण हटाने के लिए जेडीए के अधिकारियों ने यह कहते हुए मना कर दिया था कि यह नगर निगम का क्षेत्र है। निगम अधिकारियों का कहना था कि अमानीशाह नाला और सभी खाली जमीनें जेडीए के पास हैं। नाले में जिन जमीनों पर अतिक्रमण हैं, वे खातेदारी की भूमि हैं और ऐसी जमीनें निगम के अधिकार क्षेत्र में नहीं हैं। इस बीच, मुख्य सचिव मैथ्यू ने नगरीय विकास, स्वायत्त शासन, जेडीए और नगर निगम अधिकारियों के साथ अमानीशाह नाले में चल रहे डिमार्केशन और अतिक्रमण हटाने के काम की समीक्षा की।इस दौरान मुख्य सचिव को बताया गया कि नाले में डिमार्केशन का काम लगभग पूरा होने को है। केवल 6 से 7 किलोमीटर नाले में ही डिमार्केशन का काम बचा है।जेडीए की ओर से अब तक नाले में 124 पक्के निर्माण तोड़े जा चुके हैं। जबकि 74 अतिक्रमणकारियों को नोटिस दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि सरकार को हाईकोर्ट में 6 अक्टूबर को पालना रिपोर्ट पेश करनी है।

Advertisements