जात पात से उंचा उठने की सलाह

Posted by

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत जामडोली में हो रहे चैतन्य शिविर में कहा कि अब जात पात से उपर उठने का वक्‍त आ गया है। जब भी वोट डाले तो जातिगत राजनीति से उठकर  वोट डालें।  कोयला घोटाले पर पिछले दिनों केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे के बयान पर बिना उनका नाम लिए उन्होंने तंज कसा कि ‘…यहां पर भूलने वालों की संख्या कम और याद रखने वालों की संख्या ज्यादा है,जो समय रहते अपनी याददाश्त के हिसाब से काम करती है।’ गौरतलब है कि शिंदे ने कहा था कि लोगों की याददाश्त बहुत कमजोर होती है,कुछ दिनों में लोग कोयला घोटाला भी भूल जाएंगे। शिविर के उद्घाटन सत्र को भागवत के अलावा सह प्रांत संचालक रमेश अग्रवाल,क्षेत्र संघचालक पुरुषोत्तम परांजपे,राज्य के पूर्व मुख्य सचिव एमएल मेहता और प्रांत संघचालक लक्ष्मीनारायण चातक ने भी संबोघित किया। भागवत ने कहा कि हमें ध्यान रखना है कि कहां बात करनी है और कहा काम करना है। हमें जहां तीर चलाना है,उसी निशाने पर नजर रखने की जरूरत है। भागवत ने कहा कि समाज में पिछड़ों को आगे लाने और देश के लिए काम करने वाले संगठित समाज को बनाना आज की आवश्यकता है। देश के मूल्य और संस्कृति के लिए मरने वालों की जरूरत है। यही बात आगे जाकर स्वभाव और फिर चरित्र बन जाती है। हमे ऎसा समाज बनाना है,जिसके आगे पूरी दुनिया नतमस्तक हो जाए। मोहन भागवत ने कहा कि सीमा पर बढ़ती गतिविघियों के मद्देनजर चीन कभी भी आक्रमण कर सकता है। हो सकता है ना करे,फिर भी हमे तैयार रहना है।

Advertisements