जयरूप जीवन देंगे एक्टिंग टिप्स

बड़े और छोटे परदे पर राजस्थान की हमेशा धूम रही है। राजस्थान के कलाकार कई दशकों से फिल्मों और सीरियल्स में अपनी खास पहचान बना रहे हैं। लेकिन हकीकत यह है कि जितने लोग अभिनय की हसरत लेकर मुम्बई पहुंचते हैं, उनमें से दो से पांच फीसदी ही लोग परदे तक आ पाते हैं। कारण, बेहतर ट्रेनिंग का अभाव। राजस्थान में टीवी और फिल्मों के अभिनय के लिए विशेष ट्रेनिंग की व्यवस्था न हो पाना इसका प्रमुख कारण है। लेकिन अब यह कमी भी दूर होने जा रही है। राजस्थान के प्रख्यात रंगकर्मी जयरूप जीवन अब फिल्म और सीरियल्स के लिए विशेष एक्टिंग कोर्स शुरू करने जा रहे हैं। जयरूप अस्सी के दशक में एनएसडी स्टूडेंट रहे और बीते तीस सालों से अभिनय और निर्देशन में पूरे देश में उन्होंने नाम कमाया है। जयरूप ने जयपुर में ‘रंगारंग एक्टिंग इंस्टीट्यूट’  की शुरुआत की है। जहां तीन महीने की अभिनय की ट्रेनिंग दी जाएगी। जयरूप ने बताया कि कई बड़े प्रोडेक्शन्स में वे स्वयं कास्टिंग डारेक्टर रहे हैं और इस बात को समझते हैं कि राजस्थान के लोगों में जुनून है। इस जुनून के साथ अभिनय के तकनीकी पक्षों को भी समाहित कर दिया जाए तो वे बेहतर होमवर्क के साथ मुम्बई पहुंचेगे। बल्कि जयरूप का कहना है कि उनका प्रयास तो यह रहेगा कि स्टूडेंट मुम्बई जब जाए तो उसके पास पहले से ही काम हो। जैसा कि अन्य प्रोफेशनल कोर्सेज में प्लेसमेंट की व्यवस्था होती है। तीन महीने के स्लेबस में सबसे पहले रंगमंच की बारीकियों और फिर छोटे बड़े परदे के अभिनय के प्रायोगिक व सैद्धांतिक पक्षों के बारे में समझाया जाएगा। इस ट्रेनिंग कैम्प के दौरान थिएटर, फिल्म और सीरियल से संबंधित प्रोडेक्शन्स भी तैयार किए जाएंगे। जयरूप जीवन का कहना है कि मिड अक्टूबर से पहला बैच शुरू हो जाएगा।