विधानसभा की कार्यवाही स्थगित

Posted by

राजस्थान विधानसभा (Assembly )की तेरहवीं विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।  भाजपा के विधायकों के विधानसभा की कार्यवाही के बॉयकाट के चलते माकपा के तीन विधायकों अमराराम, पेमाराम और पवन दुग्गल ने ही बहस में हिस्सा लिया।  पवन दुग्गल ने कहा कि सरकार को गरीबों के लिए कल्याण और विकास की बेहतर योजनाएं बनानी चाहिए। अमराराम ने कहा कि अमृतसर के स्वर्ण मन्दिर के बाहर एक भी भिखारी नहीं मिलता। क्यों न हमारी राज्य सरकार ऐसी योजनाऐं बनाए कि प्रदेश के सभी वर्गों का समान विकास हो। विधि मंत्री शांति धारीवाल ने सदन में विधेयक को प्रस्तुत करते हुए बताया कि सरकार की मंशा है कि अधिवक्ताओं को अधिक से अधिक मदद मिले, इसलिए अधिवक्ता फीस दस रुपए से बढ़ाकर 25 रुपए की गई है।  सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अशोक बैरवा ने भिखारियों या निर्धन व्यक्तियों का पुनर्वास विधेयक को सदन में प्रस्तुत हुए कहा कि प्रदेश के गरीबों, निर्धनों एवं भिखारियों को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए सरकार का यह एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

Advertisements