नवरात्र से दीवाली तक जयपुर में रौनक

शहर ने त्योंहारी सीजन में खूब किया धमाल
-त्योंहार मनाए, शॉपिंग की
-गरबा-डांडिया के आयोजन हुए

jaipur-rocks-navratra-to-diwali

शहर में नवरात्र से आरंभ हुआ त्योंहारी सीजन जारी है। शहर में दीवाली की शाही रौनक दिखाई देने लगी है। जगह-जगह शॉपिंग कॉनिर्वाल के आयोजन, बाजारों में भीड़, साथ ही सावों की खरीददारी, वहीं दशहरा, बकरा ईद, करवा चौथ और दीवाली जैसे बड़े त्योंहार कतार से आने से घर-घर में रौनक दिखाई दे रही है।

नवरात्र-डांडिया-गरबा-शहर में नवरात्र के दौरान डांडिया और नवरात्र की धूम रही। इस दौरान शहर के विभिन्न क्षेत्रों में डांडिया और  गरबा महोत्सव हुए। सेलिब्रिटिज ने इनका उद्घाटन किया और कई तरह के  प्रोगाम्स में हिस्सा लिया। नवरात्र पर इस बार जयपुर में यूथ ने जमकर गरबा में अपनी मौजूदगी दिखाई और कई संस्थाओं ने महिलाओं के कल्याणार्थ भी यह आयोजन किया। भक्ति और आराधना के साथ साथ शहर में मस्ती भरे आयोजन, बीट्स म्यूजिक नाइट्स और कई तरह के फन प्रोग्राम्स नवरात्र के दौरान हुए। जिनमें यूथ ने बड़ी संख्या में भाग लिया। इस नवरात्र भी यूथ के कदम डांडिया, गरबा और मार्डन धुनों पर खूब थिरके। स्कूल और कॉलेज भी इस मौके पर बड़े आयोजन करने से नहीं चूके। सेंट विल्फ्रेड गल्र्स कॉलेज और माहेश्वरी पब्लिक स्कूल ने गरबा के भव्य प्रोग्राम किए। एसएमएस इनवेस्टमेंट ग्राउंड में अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव का आयोजन भी किया गया जिसमें बड़ी संख्या में यूथ ने भागीदारी दिखाई।

देवी मां के मंदिरों में रही भीड़– नवरात्र के मौके पर देवी मां के मंदिरों में भक्तों की भीड़ रही। रात्रि जागरण के विशाल आयोजन किए गए। राजापार्क के पंचवटी सर्किल पर वैष्णों देवी मंदिर में माता को पोशाक अर्पित की गई। नवरात्र के दौरान मंदिर में आरती का समय सुबह 6 बजे और शाम को साढे 7 बजे रहा। यहां शयन आरती 10 बजे की गई।
बंगाली समाज भी नवरात्र में दुर्गा महोत्सव में धूमधाम से शामिल हुआ। भव्य दुर्गा प्रतिमाएं पूजा कार्यक्रमों के लिए तैयार की गई थी। महाषष्ठी के शाम शहर में जगह जगह बंगाली समाज के लोगों में उत्साह दिखा और सांस्कृतिक आयोजन भी हुए। शिला माता मंदिर आमेर में इस अवसर पर छठ का मेला भरा। बंगाली समाज ने यहां विशेष पूजा की। शहर में जगह जगह भगवती जागरण हुए।

दशहरा मेला- शहर में दशहरा पर्व  भी धूमधाम से  मनाया गया। दशहरा मेला समिति, शास्त्रीनगर की ओर से राष्ट्रपति मैदान में विशाल दशहरा मेला का आयोजन किया गया। इस मेले में विभिन्न प्रकार की खाने पीने की स्टॉलें, आइसक्रीम, झूले, रामदरबार, आतिशबाजी और रावण के पुतले का दहन किया गया। वहीं न्यू सांगानेर रोड वरुण पथ पर गुरूप्रज्ञा आदर्श दशहरा मेला का आयोजन किया गया। मेले में झूले, खाने पीने  की  स्टॉलें, गेम्स स्टॉलें, हाथी घोड़े और ऊंट की  सवारी, आतिशबाजी आदि की गई। इस मौके पर सयाली भगत की लाइव परफोर्मेंस भी थीं।

करवा चौथ- 2 नवम्बर को करवा चौथ का व्रत शहर में उल्लास से मनाया गया। इस अवसर पर महिलाओं और युवतियों ने दिनभर निर्जला व्रत रखा और रात लगभग 8.30 बजे  चांद देखकर व्रत खोला। चौथ के अवसर पर चौथ का बरवाड़ा में लगने वाले विशाल मेले के  मद्देनजर रेल्वे प्रशासन ने 2 से 4 नवम्बर तक जयपुर-सवाईमाधोपुर मेला स्पेशन ट्रेन चलाई।

दीवाली- जैसे-जैसे दीवाली का त्योंहार नजदीक आ रहा है, बाजारों की रौनक बढ़ती जा रही है। मिठाई में मिलावट को रोकने के लिए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान तेजी पर है। इस बार कपड़ों, सजावट के सामान, इलैक्टॉनिक आईटम्स, फोन और कंप्यूटर जैसे उपकरणों की बिक्री तेज हो गई है। साथ ही पटाखों और मिठाईयों की दुकानों पर भी भीड़ देखी जा रही है। परकोटा के बाजारों में सजावट देखते ही बन रही है।

Advertisements