होटल सामोद पैलेस जयपुर (Samode Palace, Jaipur)

Posted by

होटल सामोद पैलेस जयपुर ( Samode Palace Jaipur)

किसी भी स्थान की बात करें, उसका नाम ही अपने आप में एक युग और उसकी विशिष्टताओं व खासियत को परिभाषित करता है। इतिहास के पन्नों मेंलम्बे समय तक अपनी संस्कृति को समेटे हुए हर स्थान का अस्तित्व अपने एक मील का पत्थर बन जाता है, जो वास्तव में राजस्थान की परंपरा और संस्कृति को दिनों दिन समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ऐसा ही एक मील का पत्थर है होटल सामोद पैलेस (Samode Palace, Jaipur)। सामोद का महल अपने शिल्प और सेवाओं से राजस्थान की विशिष्ट परंपराओं का पालन करता है और अपने मेहमानों का दिल जीत लेता है। सामोद पैलेस होटल अपने नाम के साथ एक उक्ति का प्रयोग करता है, अंग्रेजी में यह उक्ति है-’लिव लाईफ, किंग साईज।’ हिन्दी में इसका अर्थ है-’जियो जिंदगी, बादशाहों जैसी।’ वास्तव में सामोद पैलेस अपने मेहमानों को कुछ दिन की बादशाहों जैसी जिंदगी देने का वादा करता है और उसे पूरी शिद्दत से निभाता भी है।

सामोद पैलेस होटल की फिजां में आप राजस्थान के ठाठ बाट को भली भांति महसूस कर सकते हैं। होटल प्रबंधन के कर्मचारी भी अपने मेहमानों को स्वागत इतने उच्च आदर भाव से करते हैं कि आने वाले को एक बार तो यह भ्रम होता है कि कहीं वह किसी रियासत का सुल्तान तो नहीं। राजस्थानी संस्कृति और परंपरा से किए स्वागत से आगंतुक अभिभूत हो उठते हैं। शाम के समय महल के विभिन्न हिस्सों से उठती हुई रंग बिरंगी रोशनी इसे और भी खूबसूरत विंटेजी लुक देती है और रहस्यमयी आकर्षण से ढक लेती है। वाकई यह नजारा शानदार होता है। यहां के स्टाफ का हर कर्मचारी लम्बे समय से यहां सेवाएं दे रहा है, इसलिए उन्हें अपने काम से प्रेम है और अपने कौशल के साथ वे इसे बखूबी अंजाम देने में सक्षम हैं।

सामोद महल जयपुर के उत्तर-पश्चिम में स्थित एक छोटे से कस्बे चौमूं के पास सामोद गांव में है। चारों ओर से अरावली की मध्यम पहाडियों से घिरा यह खूबसूरत होटल मेहमानों के लिए जन्नत से कम नहीं है। न सिर्फ मेहमानों के लिए यह होटल बेहद उम्दा सेवाएं और सुविधाएं उपलब्ध कराता है बल्कि सम्मेलन समारोह करने के इच्छुक कुलीन लोगों की भी यह पसंदीदा जगह है। कॉर्परेट जगत की विख्यात हस्तियां, बड़े बिजनेसमैन और उद्योग-व्यवसाय जगत से जुड़े प्रतिष्ठित लोग यहां समय समय पर मीटिंग और सम्मेलनों का आयोजन करते रहते हैं। यहां का शांतिपूर्ण और शहर की गहमागहमी से दूर का वातावरण, बेहतर सुविधाएं और आलीशान कमरे देशी विदेशी मेहमानों को अपने काम, सम्मेलन या मीटिंग में पूरी शिद्दत से ध्यान देने में मदद करता है। जयपुर के ठाठ-बाट की कहानियां सुनकर राजस्थान आए मेहमान सामोद पैलेस में उसे जीवंत होते देखते हैं और महसूस भी करते हैं। महल का सफारी लॉज मेहमानों के लिए जयपुर के आस-पास के राष्ट्रीय अभ्यारण्यों में सैर करने का प्रबंध भी कराता है। यह सफारी लॉज सुविधा जयपुर के कुछ चुनिंदा होटलों में ही मिलती है, होटल सामोद पैलेस ऐसे गिने चुने होटलों में से एक है।

जो विदेशी मेहमान जयपुर के राजा-महाराजाओं के रहन-सहन, खान-पान और रिहायशी ठाठ-बाट को जानने समझने के उत्सुक होते हैं, वे यहां आकर बिल्कुल वैसा ही जीवन जीते हैं जैसा यहां के राजा महाराजा जिया करते थे। वास्तव में होटल की हर चीज, हर सेवा, हर व्यवहार वैसा ही होता है, जैसा राजा महाराजाओं से उनके सेवक किया करते थे। यहां मेहमानों की छोटी से छोटी मांग और इच्छा का बड़ा आदर किया जाता है।

होटल सामोद पैलेस की सेवाएं और सुविधाएं

होटल सामोद पैलेस में अच्छी तरह से सुसज्जित 19 विशेष कमरे, 20 डीलक्स सुईट्स और 4 रॉयल सुईट्स हैं। इनके साथ ही कमरों में नर्म बिस्तर, खूबसूरत वस्त्र सज्जा, नक्काशीदार कोच, बाथ टब और फर्श पर मुलायम कालीन की सुविधाएं दी जाती हैं। होटल के कमर शानदार और राजसी वैभव से युक्त हैं जिनकी बनावट पर राजस्थान की विरासत शैली का प्रभाव देखा जा सकता है। सामोद महल के प्राकृतिक खूबसूरती भरे आंगन में मेहमानों को लजीज नाश्ता परोसा जाता है और पूल साईड या फिर मोमबत्ती की मध्यम रोशनी में भोजन की व्यवस्था भी की जाती है।

होटल प्रबंधन यहां शाही शादियों की इजाजत भी देता है। जयपुर के रईस यहां से शादी करने का सपना देखते हैं। राजस्थानी संस्कृति के पाश्र्व में यहां से शादी के ठाठ अलग ही राजसी जीवन में ले जाते हैं। शादियों में न केवल राजस्थान की लोक संस्कृति को ध्यान में रखकर साज सज्जा की जाती है, बल्कि भोजन में राजस्थानी जायके का स्वाद परोसा जाता है। वास्तव में सामोद पैलेस एक साथ बहुत सी मनोकांक्षाओं की स्वर्गानुभूति को वास्तविकता के धरातल पर उतार लाने में सक्षम और समर्थ है।

[faqs topicalize=false topic=samode-palace width=500 color=black]

[faqs_form]

Advertisements