विदेशी पर्यटकों की ’विजिट’ में जयपुर टॉप पर

jaipur-top-in-tourism-at-last-जयपुर शहर में चार साल में पर्यटकों की संख्या दुगनी हुई है। खास बात यह है कि माउंट आबू से ज्यादा ये पर्यटक जयपुर घूमने में दिलचस्पी ले रहे हैं। राज्य में विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने में गुलाबी नगर जयपुर पहले नंबर पर है। वहीं मुख्य पर्यटक स्थल माउंट आबू से पर्यटकों ने किनारा भी किया है। जयपुर में पिछले चार सालों में पर्यटकों की संख्या दुगनी हो गई है। माउंट आबू में पर्यटकों की संख्या 15 हजार से गिरकर 11 हजार रह गई है। इसके अलावा उदयपुर, जोधपुर, रणकपुर और बीकानेर में पर्यटकों की संख्या में वृद्धि हुई है। पुष्कर और जैसलमेर में भी पर्यटकों की संख्या में इजाफा नहीं हो पा रहा है।

विदेशी मेहमान – आगमन पर एक नजर

स्थान/वर्ष 2009 2010 2011 2012
जयपुर 283423 368512 416824 524256
उदयपुर 165210 173016 177699 189373
जोधपुर 73080 108073 103034 121034
रणकपुर 81758 107950 107897 110094
बीकानेर 59857 74508 74820 76497
जैसलमेर 98652 113520 122969 73299
पुष्कर 75155 79682 69891 70766
माउंट आबू 15565 13607 12928 11386

किस देश से कितने पर्यटक-

फांस से 206783, यूके से 133220, यूएसए से 126605, जर्मनी से 124889, इटली से 86879, आस्ट्रेलिया से 75017, कनाडा से 50709, स्विटजरलैंड से 56699, जापान से 40541

बांग्लादेश से आए पर्यटक-

पाकिस्तान और बांग्लादेश से राज्य में आने वाले पर्यटक अजमेर दरगाह तक की सीमित हैं। पाकिस्तान के मुकाबले बांग्लादेश के पर्यटक राजस्थान में ज्यादा आ रहे हैं। पिछले साल बांग्लादेश से आने वाले पर्यटकों की संख्या 23050 थी जबकि पाकिस्तान से आए मेहमानों की संख्या मात्र 2039 थी।

2 thoughts on “विदेशी पर्यटकों की ’विजिट’ में जयपुर टॉप पर

  1. जयपुर शहर में चार साल में पर्यटकों की संख्या दुगनी हुई है। खास बात यह है कि माउंट आबू से ज्यादा ये पर्यटक जयपुर घूमने में दिलचस्पी ले रहे हैं। राज्य में विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने में गुलाबी नगर जयपुर पहले नंबर पर है। वहीं मुख्य पर्यटक स्थल माउंट आबू से पर्यटकों ने किनारा भी किया है। जयपुर में पिछले चार सालों में पर्यटकों की संख्या दुगनी हो गई है। माउंट आबू में पर्यटकों की संख्या 15 हजार से गिरकर 11 हजार रह गई है। इसके अलावा उदयपुर, जोधपुर, रणकपुर और बीकानेर में पर्यटकों की संख्या में वृद्धि हुई है। पुष्कर और जैसलमेर में भी पर्यटकों की संख्या में इजाफा नहीं हो पा रहा है।

    Like

  2. भारतीय रिवाज, इजराईली शादी
    जयपुर के एक होटल में सोमवार को भारतीय रिवाजों से इजराइल का एक जोड़ा वैवाहिक बंधन में बंधा। कच्ची घोडी, मंगल गीत, आसमान में आतिशबाजी, शहर के एक होटल में हुई मॉक वेडिंग में ऐसा ही नजारा देखने को मिला। इजराइली जोडा अपने दोस्तों के साथ था। विवाह भारतीय परंपरा से हुआ। दुल्हन पालकी में आई और दूल्हा हाथी पर सवार होकर। दोनो को हिन्दुस्तानी संस्कृति से प्रेम है, इसलिए यह दोनो का फैसला था कि कल्चरल सिटी जयपुर आकर भारतीय रिवाजों से शादी की जाए। दोनो इंश्योरेंस फील्ड से जुड़े हैं और पहले से शादीशुदा भी हैं। शादी में 78 लोग शामिल थे। बारातियों के साथ साथ होटल में रूके अन्य लोग भी उत्साहित थे। यहां तक आईपीएल कवर करने आए फोटो ग्राफर भी जोडे की फोटो क्लिक करते दिखे। दुल्हन बनी जोहर का कहना था ’मैं बहुत खुश हूं, अपने आप को राजकुमारी जैसा महसूस कर रही हूं। भारतीय संस्कृति वाकई लाजवाब है।’ विवाहोत्सव में पुरूष पगड़ी और महिलाएं साड़ी में शामिल हुई।

    Like

Comments are closed.