सवाई मानसिंह स्टेडियम

Posted by

sawai-mansingh-stadium

जयपुर का सवाई मानसिंह स्टेडियम देश के सबसे खूबसूरत स्टेडियमों में से एक है। सुंदरता के लिए विभिन्न नामों से संबोधित करने वाले इस शहर का यह स्टेडियम भी अपनी खूबसूरती, बनावट, सुविधाओं और बेहतर माहौल के कारण दुनियाभर के खिलाड़ियों को आकर्षित करता है। जयपुर शहर के सबसे व्यस्ततम चौराहों में से एक ’रामबाग सर्किल’ पर स्थित यह स्टेडियम जयपुर घराने के महाराजा सवाई मानसिंह के नाम से जाना जाता है।

महाराजा मानसिंह द्वितीय के शासनकाल के दौरान बने इस भव्य स्टेडियम का वर्ष 2006 में नवीनीकरण किया गया। महाराजा मानसिंह ने खेलों के क्षेत्र में जयपुर का नाम दुनियाभर में रोशन किया। वे होर्स पोलो के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी और चैम्पियन थे। यही कारण है कि उनके नाम पर इस विशाल स्टेडियम का नामकरण किया गया। नवीनीकरण के बाद यह सबसे अच्छे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियमों में शुमार हो चुका है।

एसएमएस स्टेडियम में क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों के ट्रैक और विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं भी हैं। जयपुर के सबसे पॉश इलाके में स्थित इस भव्य स्टेडियम की क्षमता 30 हजार दर्शकों की है।

महत्वपूर्ण तथ्य : क्रिकेट

पहला टेस्ट – 21 – 26 फरवरी 1983, भारत बनाम पाकिस्तान

यादगार मैच

जयपुर के इस शानदार क्रिकेट ग्राउंड पर कई यादगार मैच खेले गए हैं जिनमें 21 फरवरी 1987 को हुआ भारत पाकिस्तान के बीच खेला गया टैस्ट मैच कई कारणों से यादगार बन गया। इस मैच में दूसरे दिन का खेल देखने के लिए पाकिस्तान के राष्ट्रपति जिया उल हक को आमंत्रित किया गया था। यह मैच भारत पाकिस्तान के बीच ’क्रिकेट फोर पीस’ का संदेश देने के मकसद से खेला गया था। इस मैच को पाकिस्तानी क्रिकेटर युनीस अहमद के 17 साल के कॅरियर में तीसरी बार क्रिकेट में वापसी और भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर के पहली गेंट पर आउट हो जाने के लिए याद किया जाता है। यह मैच भारी बारिश के चलते तीसरे दिन बिना परिणाम के ही समाप्त हो गया था।

एसएमएस स्टेडियम में एकदिवसीय  मैचों की शुरूआत धमाकेदार हुई। पहला एक दिवसीय मैच यहां 2 अक्टूबर 1983 को भारत और पाकिस्तान के बीच ही खेला गया था। उस वर्ष भारतीय टीम वर्ल्डकप चैंपियन बनी थी। विजय के नशे में चूर इस टीम ने विरोधी टीम को चार विकेट से मात दी। सभी खिलाड़ी वही थे जो वर्ल्डकप विजेता टीम का हिस्सा थे। इस स्टेडियम ने दो वर्ल्डकप मैचों की भी मेजबानी की। एक 1987 में और दूसरा 1996 में। पहले मैच में वेस्टइंडीज इंगलैंड से हारी और फिर बाद में आस्ट्रेलिया को हराया। गौरतलब है कि इस स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ 183 रन की शानदार पारी खेलकर ही महेन्द्र सिंह धोनी सारी दुनिया पर छा गए थे। जयपुर की जमीन पर किसी भी बल्लेबाज का यह सर्वोच्च स्कोर था।

रिकॉर्ड

जयपुर का यह शानदार स्टेडियम कई अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड का गवाह भी रहा है। वर्ष 2005-06 में भारत का सर्वाधिक स्कोर श्रीलंका के खिलाफ रहा। इस मैच में भारत ने 4 विकेट पर 303 रन बनाए। इसी मैदान पर सबसे कम स्कोर का रिकॉर्ड भी भारत के नाम ही है। भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 135 रन पर आउट होकर यह खराब रिकॉड अपने नाम किया। व्यक्तिगत सर्वोच्च स्कोर के मामले में भी भारत का पलड़ा भारी है। इस ग्राउंड पर भारत के महेंद्र सिंह धोनी ने 185 रनों की तूफानी पारी खेलकर सनसनी मचा दी थी। किसी  भी खिलाड़ी द्वारा इस मैदान पर बनाया गया यह सर्वोच्च स्कोर है।

सवाई मानसिंह स्टेडियम ने कई टेस्ट मैचों के साथ वन डे और  टी-20 मैचों की मेजबानी  की है। यह वही मैदान है जहां से सौरभ गांगुली और सचिन तेंदुलकर ने दुनिया की सबसे सफल ओपनिंग जोडी देने की शुरूआत की थी। दोनो ने बतौर ओपनर यहां अपना पहला मैच खेला था। साथ ही यहां  यह भी याद दिलाना जरूरी है कि आईपीएल के पहले सीजन में सबसे कमजोर आंकी जा रही राजस्थान रॉयल्स की टीम ने इसी मैदान पर चैंपियन बनकर सबकी बोलती बंद कर दी थी। जब भारत ने वर्ल्डकप की मेजबानी की थी तब पहला मैच जयपुर में ही भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था।

प्रमुख टूर्नामेंट

वर्ष – 2006 में महिला एशिया कप
वर्ष – 2006 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी
वर्ष – 1987 और 1996 में क्रिकेट विश्व कप

सवाई मानसिंह स्टेडियम : पुननिर्माण

वर्ष 2006 में एसएमएस स्टेडियम का पुनर्निर्माण किया गया। लगभग 400 करोड के इस पुनर्निर्माण के बाद स्टेडियम की काया ही पलट गई और यह विश्व के सबसे खूससूरत स्टेडियमों में शुमार किया जाने लगा। यहां बनाए गए मीडिया कक्ष, गैलरीज, दो नए ब्लॉक आदि से स्टेडियम के न केवल रूप में निखार आया है वरन सुविधाओं के मामले में भी यह देश का अग्रणी स्टेडियम बन गया है। यहां 7 करोड की लागत से एक वर्ल्डक्लास क्रिकेट अकेडमी भी बनाई गई जिसमें 28 कक्ष, एक जिम, एक रेस्टोरेंट, दो कांफ्रेंस हॉल और एक स्विमिंग पूल था।

जयपुर के इस शानदार और यादगार स्टेडियम में विकास कार्य अब भी चल रहे हैं और आहिस्ता आहिस्ता यह दुनिया के बेहतरीन स्टेडियम की शक्ल अख्तियार करता जा रहा है। यहां क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों को भी प्रोस्ताहन देने के लिए कई आउटडोर और इंडोर ट्रैक, कक्ष, हॉल आदि का निर्माण किया जा रहा है। भविष्य में हम मेट्रो शहर जयपुर के नए अत्याधुनिक स्टेडियम से रूबरू होंगे।

Advertisements

18 comments

  1. आईपीएल-6 : जयपुर

    इंडियन प्रीमियर लीग का छठा संस्करण बुधवार 3 अप्रैल से आरंभ हो चुका है। क्रिकेट के दीवाने इस देश में आने वाले 54 दिन क्रिकेट के बुखार में बीतने वाले हैं। आईपीएल-6 की धमाकेदार शुरूआत एक भव्य आयोजन से हुई जिसमें कॉर्परेट, क्रिकेट और बॉलीवुड का कॉकटेल सबके सिर चढ़कर बोला। आईपीएल के इस संस्करण की शुरूआत कोलकाता में पिछले वर्ष की विजेता कोलकाता नाइट राइडर और दिल्ली डेयरडेविल्स के मुकाबले से होगी। आईपीएल-6 को लेकर जयपुर के युवाओं में भी खासा उत्साह है। शहर के युवा साम दाम दण्ड भेद से एसएमएस स्टेडियम के एक अदद टिकट की जुगाड में जुट गए हैं। जयपुर में आईपीएल का पहला मैच 8 अप्रैल को खेला जाना है।
    राजस्थान रॉयल्स एसएमएस स्टेडियम पर अपना पहला मैच 8 अप्रैल को खेलेगी। उसका सामना गत चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर से होगा। जयपुर में राजस्थान रॉयल्स के कुल आठ मैच होने हैं। 14 मार्च को किंग्स इलेवन पंजाब से खेलने के बाद 17 अप्रैल को राजस्थान की टीम मुंबई इंडियंस से भिडे़गी। 29 अप्रैल को टीम का मुकाबला बेंगलुरू रॉयल चैलेंजर से होगा जबकि 5 मई को उसे पुणे वॉरियर ने मैच खेलना है। इसके बाद 7 मई को दिल्ली डेयरडेविल्स और आखिरी मैच धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स से 12 मई को होगा।
    इन पर होगी नजर-
    जयपुर वासियों को राजस्थान रॉयल्स से बड़ी उम्मीदें हैं। पहले सीजन में सबसे कमजोर आंकी जा रही इस टीम ने चैंपियन बनकर सबके दिलों में जगह बना ली। इस संस्करण में भी सभी की नजर राहुल द्रविड, शेन वॉटसन, ब्रेड हॉज, शॉन टैट, श्रीसंत, ऑवेस शाह और आंजिक्य रहाणे पर होगी।
    टीम राजस्थान रॉयल्स-
    राहुल द्रविड़ (कप्तान), शेन वाटसन(उपकप्तान), आंजिक्य रहाणे, ब्रैड हॉज, आवेस शाह, स्टुअर्ट बिन्नी, अशोक मेनारिया, श्रीवत्स गोस्वामी, दिशांत याज्ञिक, जेम्स फोकनेर, सचिन बेबी, शॉन टैट, केवन कूपर, अंकित चौहान, ब्रैड हॉग, फिदेल एडवर्ड, हरमीत सिंह, सिद्धार्थ त्रिवेदी, कुशल परेरा, सैमुअल बद्री, अजीत चंदेलिया, श्रीसंत, संजू सॅमोन, राहुल शुक्ला और प्रवीण तांबी।

    Like

  2. जयपुर में आईपीएल का बुखार
    जयपुर के घरेलू मैदान सवाई मानसिंह स्टेडियम में 8 अप्रैल को राजस्थान रॉयल ने कोलकाता पर धमाकेदार जीत दर्ज की। जीत ने जयपुर को न केवल जश्न का मौका दिया बल्कि आईपीएल का खुमार भी बढा दिया है। मैच से पहले स्टेडियम के बाहर दर्शकों की लंबी कतारें देखने को मिली। इससे जयपुरवासियों में क्रिकेट के प्रति जुनून साफ झलका। बड़ी संख्या में मौजूद बच्चों और युवाओं ने अपने गालों पर राजस्थान का लोगो बनाया हुआ था, कुछ ने झंडे ले रखे और रंग बिरंगी पोशाकों में मौजूद राजस्थान के फैन अपनी टीम को चीयर्स करने के लिए बेहद उत्साहित थे। कुछ लोगों के लिए आईपीएल के जयपुर में होने वाले मैच पूरे साल के पारिवारिक मनोरंजन माध्यम बन गए हैं। जिन बच्चों के एग्जाम खत्म हो गए हैं वे अपने परिवार के साथ स्टेडियम में मैच देखने के प्लान बना रहे हैं। यहां अगला मैच 14 अप्रैल को होने वाला है।

    Like

  3. जयपुर जैसे हों विकेट और मैदान – सुनील गावस्कर
    जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में आईपीएल के लिए तैयार विकेट और आउटफील्ड की दिग्गज क्रिकेटरों ने तारीफ की है। मंगलवार को राजस्थान रॉयल्स की कोलकाता नाइट राइडर्स पर जीत के दौरान यहां का विकेट टी-ट्वेंटी फार्मेट के अनुरूप दिखा। जहां बल्लेबाजों के साथ साथ गेंदबाजों को भी भरपूर मदद मिली। पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, गौतम गंभीर, राहुल द्रविड़ और आकाश चोपड़ा सभी का यहां का विकेट बहुत पसंद आया। गावस्कर ने टीवी पर एक कार्यक्रम में कहा कि देश में जयपुर जैसे विकेट और मैदान तैयार होने चाहिए। ताकि भारतीय क्रिकेटरों को विदेशों में उछाल वाली पिचों पर खेलने में परेशानी न हो। मैच के बाद रॉलल्स के एस श्रीसंत और मैन ऑफ द मैच सिद्धार्थ त्रिवेदी तो विकेट की तारीफ करते नहीं थक रहे थे। उल्लेखनीय है गत वर्ष के आईपीएल में भी जयपुर को सर्वश्रेष्ठ मैदान का पुरस्कार मिला था।

    Like

  4. रॉयल्स ने साथ छोड़ा ’पिंकी’ का
    राजस्थान रॉयल्स ने अपने ’टोटके’ पिंकी नाम की गुड़िया का साथ इस साल छोड दिया है। इसका लाभ भी रॉयल्स को मिल रहा है और उन्होंने शुरूआती दोनो मैच जीतकर साबित भी किया है कि पिंकी नाम के टोटके पर वे बेवजह विश्वास कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि 2009 में शेर्न वार्न जब राजस्थान रॉयल्स के कप्तान थे तब उन्होंने टीम में अनुशासन बनाए रखने के लिए पिंकी का इस्तेमाल किया था। वे खेल में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को पिंकी दिया करते थे। इसका असर ये हुआ कि 2009 में राजस्थान टीम चैंपियन बन गई। इसके बाद टीम के सदस्यों का पिंक पर इतना विश्वास बढ़ा की बाकी के सभी आईपीएल में उन्होंने पिंकी को साथ रखना शुरू कर दिया। लेकिन साथ ही राजस्थान का खराब दौर भी शुरू हो गया। इस बार राहुल द्रविड़ नेपिंकी के टोटके को खारिज कर दिया और उन्हें शुरूआत में ही दो सफलताएं मिल गई। अब देखना है पिंकी के बिना राजस्थान रॉयल्स कितने मैच जीत पाती है। अगर ये टीम चैंम्पियन बनी तो ’पिंकी’ का क्या होगा?

    Like

  5. टिकट हुए ’ब्लैक’
    बुधवार को मैच मुंबई और राजस्थान के बीच था लेकिन सचिन तेंदुलकर का जादू जयपुर के दर्शकों के सिर चढकर बोला। मैच के लिए टिकटों की जमकर काला बाजारी हुई। सचिन के लिए मैच देखने वालों की तादाद बड़ी थी और इसीलिए लोगों ने जककर ब्लैक में भी टिकट खरीदे। पुलिस ने करीब दर्जन भर युवकों को टिकट ब्लैक करते पकड़ा। मैच के एक दिन पहले पुलिस ने एक व्यक्ति को टिकट ब्लैक करते पकड़ा था। इससे 22 टिकट जब्त किये गए। इसके बाद स्टेडियम के आसपास सादा वर्दी में पुलिस के जवान तैनात किए गए। गिरफ्तर किए गए युवकों को ज्योतिनगर थाने में रखा गया है।

    Like

  6. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
    बेंगलुरू में बुधवार को हुए बम धमाके के बाद यहां मैच के लिए भी सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी कर दी गई। सुबह पुलिस ने करीब तीन घंटे के लिए स्टेडियम को सील कर दिया और चप्पे चप्पे पर तलाशी ली। इसके अलावा मैच देखने पहुंचे दर्शकों को भी कड़ी चैकिंग के बाद ही स्टेडियम में प्रवेश दिया गया।

    Like

  7. अंबानी परिवार ने मोती डूंगरी गणेश मंदिर के दर्शन किए
    जयपुर के एसएमएस स्टेडियम पर बुधवार को होने वाले मैच से पहले मुंबई टीम की मालिक नीता अंबानी परिवार के साथ मोती डूंगरी गणेश मंदिर दर्शन के लिए गई। उन्होंने यहां मुंबई की जीत और परिवार की खुशहाली के लिए दुआ मांगी। नीता ने यहां आरती में हिस्सा भी लिया। हालांकि इस मैच में मुंबई बुरी तरह परास्त हुआ।

    Like

  8. सचिन आउट, स्टेडियम खाली
    जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में बुधवार 17 अप्रैल की रात खेले गए एक मैच में हालांकि राजस्थान ने मुंबई को बुरी तरह मात दी, लेकिन जयपुरवासियों को मुंबई की ओर से खेल रहे सचिन तेंदुलकर से बहुत आस थी। लेकिन सचिन सिर्फ एक रन बनाकर पहले ही ओवर में चंदेला के शिकार हो गए। उनके आउट होने का गुलाबी नगर के दर्शकों को इतना अफसोस हुआ कि वे बाकी मैच छोडकर घर की ओर निकलने लगे।

    Like

  9. कल बेंगलुरू से भिड़ेंगे रॉयल्स

    राजस्थान रॉयल्स ने पांच मैंचों में से चार जीतकर कप जीतने की उम्मीदों को बढा दिया है। इस वक्त वह शीर्ष पर चल रही हैदराबाद की टीम से एक कदम पीछे है। हैदराबाद ने सात में से पांच मैच जीते हैं। शनिवार को बेंगलुरू में होने वाले इस मुकाबले में रॉयल्स की असली परीक्षा होगी। क्योंकि अब तक राजस्थान ने अपने होम ग्राउंड जयपुर पर अच्छा प्रदर्शन किया है और यहां हुए तीनों मैच जीते हैं। अब रॉयल्स का मुकाबला बैंगलुरू के होम ग्राउंड पर वहीं की टीम से होगा। विराट कोहली और क्रिस गेल जैसे धाकड खिलाडियों से सजी बेंगलुरू की टीम भी राजस्थान को हल्का आंकने की कोशिश नहीं करेगी। क्योंकि इसी टीम ने अपने पिछले मैच में आईपीएल के इस सीजन की सबसे बड़ी जीत दर्ज करते हुए मुंबई इंडियन जैसी मजबूत टीम को रौंदा था। कुल मिलाकर शनिवार को होने वाली टक्कर दर्शनीय होगी।

    Like

  10. राजस्थान रॉयल बैंगलुरू से हारी

    बैंगलुरू की घातक गेंदबाजी के सामने राजस्थान के बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए। राजस्थान ने पहले खेलते हुए 117 रन का मामूली स्कोर बनाया। बैंगलुरू की ओर से आरपी सिंह और विनय कुमार ने तीन-तीन विकेट लिए। जवाब में बैंगलुरू की टीम ने तीन विकेट खोकर 19.4 ओवर में जीत दर्ज कर ली। बैंगलुरू की ओर से क्रिस गेल ने 49 रन की पारी खेली और छक्का उड़ाकर अपनी टीम को जीत दिलाई। यह मैच बैंगलुरू में हुआ था।

    Like

  11. चेन्नई राजस्थान में होगी श्रेष्ठता की जंग

    राजस्थान रॉयल और चेन्नई सुपर किंग्स 22 अप्रैल को आमने सामने होंगे। दोनो की बीच यह मुकाबला दिलचस्प होगा। टक्कर कड़ी होगी और साथ ही यह श्रेष्ठता की जंग भी होगा। दोनो टीमों ने अपने छह-छह मैचों में चार-चार मैच जीते हैं। इसलिए इस मैच पर सभी की नजर होगी। देखना दिलचस्प होगा कि यह जंग धोनी के सुपर सितारे जीतेंगे या फिर द्रविड के रॉयल्स।

    Like

  12. जयपुर में सनराईजर्स और रॉयल्स आमने समाने

    राजस्थान रॉयल्स के लकी मैदान जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर शनिवार को एक और रोमांचक मुकाबला होने की उम्मीद है। राजस्थान का मुकाबला से हैदराबाद से होगा। एक ओर जहां राजस्थान के स्टार ओपनर शेन वाटसन ने पिछले मैच में शानदार शतक जमाकर लहर पैदा की है वहीं हैदराबाद के स्टार खिलाड़ी शिखर धवन पर भी सभी की निगाहें होंगी। हैदराबाद की नई टीम ने आठ में पांच मैच जीत कर तीसरे स्थान पर कब्जा जमा रखा है। वहीं राजस्थान सात में चार मैच जीतकर चौथे स्थान पर है। हैदराबाद की टीम में कुमार संगकारा के लौट आने से भी टीम मजबूत हुई है। जयपुर में इस मैच को लेकर खास उत्साह है। शाम 4 बजे होने वाले इस मैच में गर्मी के चलते दर्शकों की मौजूदगी पर भी असर पड़ेगा।

    Like

  13. ‌‌‌’अब तुम्हारे हवाले स्टेडियम साथियों…

    जयपुर में आईपीएल के खुमार में डूबे सवाईमानसिंह स्टेडियम के दर्शकों को शायद मालूम भी न हो कि उनकी सुरक्षा में लगाए गार्ड नकली थे। ये खुलासा तब हुआ जब मंगलवार को ज्योतिनगर पुलिस ने तीन ऐसे युवकों को गिरफ्तार किया जो टॉप्स सिक्योरिटी एजेंसी की ड्रेस पहन कर दूसरे बाउंसर का एक्रीडेशन कार्ड लगाकर मैच की सुरक्षा कर रहे थे। इसके बाद सवाईमानसिंह स्टेडियम में हो रहे आईपीएल मैचों की सुरक्षा पर सवालिया निशान लग गया है। गिरफ्तार तीनों युवक दिल्ली के हैं।
    यूं पकड़े गए-
    पुलिस ने जब गेट नं 27 पर अचानक बाउंसर्स की जांच की तो इन तीनों के एक्रीडेशन कार्ड पर लगी फोटो से इनका मिलान नहीं हुआ। जांच में सामने आया कि तीनों को कंपनी ने ही ड्रेस और गलत एक्रीडेशन कार्ड दिया था। तीनों युवक दक्षिण दिल्ली के अंबेडकर नगर के रहने वाले हैं। पुलिस ने तीनों के बारे में सिक्योरिटी का ठेका ले रखी कंपनी के अधिकारियों से इस संबंध में जानकारी मांगी है। ये तीनों सोमवार को हुए राजस्थान रॉयल्स और बेंगलुरू मैच में सुरक्षा ड्यूटी देने यहां आए थे। अब कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और अन्य बांउसर्स की जांच भी की जाएगी।

    Like

  14. सिक्योरिटी कंपनी को ब्लैकलिस्ट करने की सिफारिश

    आईपीएल-6 की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने वाली टॉप्स सिक्योरिटी एजेंसी को ब्लैकलिस्ट करने के लिए जयपुर पुलिस कमिश्नर ने मंगलवार को राजस्थान रॉयल प्रबंधन को पत्र लिखा है। इस सिक्योरिटी एजेंसी ने गत मैच में दिल्ली के तीन छात्रों को सिक्योरिटी की वर्दी पहना कर दूसरे बाउंसरों के एक्रडेशन कार्ड लगाकर सुरक्षा में तैनात कर दिया था। जिन बाउंसरों के एक्रेडेशन कार्ड युवकों के पास मिले वे बाउंसर दिल्ली से ही आए थे। सुरक्षा में सिक्योरिटी एजेंसी की लापरवाही सामने आने के बाद कमिश्नर ने आरआर को पत्र लिखा है।

    Like

  15. कल राजस्थान का मुकाबला पुणे से

    जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में रात 8 बजे से राजस्थान रॉयल्स और पुणे वारियर्स आमने सामने होंगे। रॉयल्स लगातार छठी जीत दर्ज कर फाइनल फोर में अपनी जगह मजबूत करना चाहेगा वहीं पुणे वारियर्स भी लगातार हार का सिलसिला तोड़ना चाहेंगे। रविवार के कारण स्टेडियम हाउसफुल रहने की उम्मीद है। जयपुरवासियों को मैच दर मैच रॉयल्स से उम्मीदें बढती जा रही हैं। हालांकि राजस्थान ने अपने पिछले मैच में कोलकाता के विरूद्ध अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। लेकिन फिर भी जयपुरवासियों की नजर वॉटसन और नई सनसनी संजू सैमसन पर रहेगी। रॉयल्स का यह 11 वां मैच होगा।

    Like

  16. राजस्थान जयपुर में ’अजेय’

    राजस्थान रॉयल्स जयपुर में अजेय बनी हुई है। मंगलवार शाम 4 बजे से यहां सवाई मानसिंह स्टेडियम में रॉयल्स ने दिल्ली को नौ विकेट से पटखनी दी। रॉयल्स ने यहां यह लगातार सातवीं जीत दर्ज की। पहले खेलते हुए दिल्ली ने चार विकेट पर 154 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरे रॉयल्स ने कहीं ये नहीं लगने दिया कि वे प्रेशर है। ओपनर आजिंक्य रहाणे ने नाबाद 63 रन और द्रविड़ ने 53 रन बनाए। द्रविड़ के आउट होने के बाद आए वॉटसन ने ताबड़तोड 28 रन बनाकर टीम को आसान जीत दिला दी। रॉयल्स अब मजबूत स्थिति में है। राजस्थान और मुंबई दोनो टीमों के 12 मैचों में 8 जीत के साथ 16 अंक हो गए हैं। चेन्नई 9 जीत के साथ शीर्ष पर बना हुआ है।

    Like

  17. जयपुर में जश्न की रात

    जयपुर में 12 मई रविवार की रात जश्न की रात रही। यहां एसएमएस स्टेडियम में राजस्थान रॉयल की चेन्नई पर शानदार जीत का जश्न भी शानदार तरीके से मनाया गया। मैच देखने के लिए स्टेडियम खचाखच भरा था। जितना बड़ा यह मैच था उतना ही बड़ा था जयपुरवासियों को उत्साह। आईपीएल-6 का यहां यह आखिरी मैच था। राजस्थान हो या चेन्नई, मैच का उत्साह अंत तक बना रहा। पहले बल्लेबाजी करने जब मुरली विजय और माइक हसी मैदान पर पहुंचे तो दर्शकों ने दिल खोलकर उनका स्वागत किया। उनके हर शॉट पर होम ग्राउंड जैसा चीयर ही किया गया। हालांकि दोनों की लंबी साझेदारी पर दर्शकों में बड़े स्कोर की घबराहट भी हुई। इधर जब राजस्थान ने 4 विकेट 45 के स्कोर पर लुटा दिए तो दर्शकों में मायूसी छा गई। लेकिन दस ओवर बाद वाटसन और बिन्नी ने जब चौकों छक्कों की बारिश की तो दर्शक दीर्घाएं एक बार फिर चहक उठीं।
    स्टेडियम में नार्थ ईस्ट स्टैंड के सामने चीयरलीडर्स का साथ ढोल म्यूजिक ने दिया। चीयरलीडर्स ने भी इन्हीं बीट्स पर खूब डांस किया।
    मैच से पहले बारिश होने के कारण स्टेंड के साथ लॉन और लाउंज की सीटों पर पानी भर गया। इसलिए दर्शकों ने पूरा मैच खड़े होकर देखा। दर्शकों की हर शॉट पर दीवानगी देखने लायक थी। वापस बारिश आने की आशंका से कुछ दर्शकों में घबराहट भी हुई। वहीं कुछ मौसम विभाग का हवाला देकर एक दूसरे को डराते भी रहे। जयपुर के कई युवा धोनी की बैटिंग का मुजाहिरा देखने आए थे। लेकिन उन्हें मायूसी का सामना करना पड़ा। धोनी सस्ते में ही आउट हो गए।
    जयपुर के स्टेडियम में रॉयल्स के इस आखिरी मैच के बाद द्रविड, वॉटसन और हसी ने इस ग्राउंड की जमकर तारीफ की। मैच जीतने के बाद राहुल द्रविड, शिल्पा शेट्टी व राज कुंद्रा और पूरी राजस्थान टीम ने ग्राउंड का चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवादन किया। वाटसन और द्रविड ने दर्शकों की ओर राजस्थान रॉयल्स के कैप भी उछाले। जिन्हें झपटने के लिए दर्शकों में होड लग गई।

    Like

  18. वैलोड्रम की जालियां टूटी

    जयपुर के सवाईमानसिंह स्टेडियम में बना साइकिलिंग वैलोड्रम का माहौल इन दिनों खौफजदा बना हुआ है। वैलोड्रम के ठीक नीचे पानी निकास के लिए बनाई गई नालियों पर कहीं कहीं लोहे की जालियां नहीं होने से साइकिलिस्टों को यहां साइकिलिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त होने का डर सता रहा है। कहीं कहीं इन जालियों से कंटीली झाड़ियां भी निकली हुई हैं जिससे आए दिन महंगी साइकिलों के टायर फटने की भी घटनाएं घट चुकी हैं। यहां 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती साइकिलें जरा सी चूक से गंभीर हादसे का शिकार बन सकती हैं। इन दिनों वैलोड्रम पर राजस्थान राज्य क्रीडा परिषद की ओर से सेंट्रल कैंप चल रहा है जिसमें नन्हे साइकिलिस्ट भी आए हुए हैं। जो इस लापरवाही से दुर्घटनाग्रस्त हो सकते हैं। कैंप में राजस्थान के 9 साइकिलिस्ट भाग ले रहे हैं। कैंप 19 जुलाई को है ऐसे में अगर यही हाल रहा तो आगे कौन यहां साइकिलिंग करने आएगा।

    Like

Comments are closed.