जयपुर में ’नाइटलाइफ’

night-life-in-jaipur

’रात्रिकालेषु जयपुरम् मधुरमाति मधुरम्’ यानि रात में जयपुर मधुर से भी मधुर लगता है। जयपुर की खूबसूरती और आकर्षण रात में और भी बढ़ जाता है। जयपुर तेज गति से प्रगति करता शहर है। हाल ही यहां वर्ल्ड ट्रेड पार्क जैसी इमारतें विकसित हुई हैं। कई मॉल्स को अपने भीतर शरण देने में सक्षम ऐसी इमारतें देश में चार ही हैं। जयपुर इसी वर्ष मेट्रा की सेवाएं देने वाला शहर भी बन जाएगा। ऐसे में, जब यह शहर देश के महानगरों की श्रेणी में शुमार होने के लिए बेसब्री से भाग रहा है, तब यहां के दैनिक जीवन में बहुत फेरबदल होना अवश्यंभावी है। जयपुर अभी मुंबई की तरह आधी रात तक जागने वाला शहर तो नहीं बना है लेकिन अब इस शहर में ऐसी बहुत सी सुविधाएं विकसित हो रही हैं। जो इस शहर को देर रात तक जगाने में सक्षम हैं।

’रात्रिकालेषु जयपुरम्’ की उक्ति का अर्थ है रात में जयपुर। जयपुर में नाइटलाइफ बहुत धीमे विकसित हो रही है। जयपुर के युवा महानगर के युवाओं की तरह महत्वकांक्षी होते जा रहे हैं। वे एक आधुनिक लाइफ जीने के लिए दिन के साथ साथ रात का भी भरपूर उपयोग करना चाहते हैं। दिनभर काम और ऑफिस के थका देने वाले शेड्यूल ने जयपुर में नाइटलाइफ को और मांग में ला दिया है।

गुलाबी रंग के इस नायाब शहर की खूबसूरती दिन में भीड़ भाड़ और ट्रैफिक में कहीं खो जाती है। रात में जब धीरे धीरे शहर नींद के आगोश में जाने लगता है तब शहर में कहीं कहीं रोशन होती रंग बिरंगी लाइटें नाइटलाइफ जीने वालों को चले आने का इशारा करती हैं। खाली सपाट सड़कें, जगमगाती रोड लाइटें, भव्य महलनुमा बाजार, मंदिर, छतरियां आदि सभी रात में बहुत ही खूबसूरत माहौल पैदा करती हैं। रात में जयपुर स्थापत्य और आधुनिकता का कॉकटेल बन जाता है। जिसका नशा उन्हें पता होगा जो जयपुर में नाइटलाइफ का आनंद उठाते हैं। जयपुर के वर्ल्ड ट्रेड पार्क जैसे विशाल मॉल्स ने हाल ही देर रात तक शॉपिंग करने का अवसर जयपुरवासियों को उपलब्ध कराया है। यूं भी जयपुर अब ’सिटी ऑफ मॉल्स’ कहलाने लगा है। देर शाम तक ऑफिसों में घुसे डूबकर काम करने वाले जयपुर के युवा अपनी जिंदगी का कुछ हिस्सा अपने लिए जीना चाहते हैं। इसके लिए उनके पास ’नाइटलाइफ’ अलावा कोई और विकल्प भी नहीं है।

शाम से लेकर देर रात तक इस रात्रिजीवन का आनंद लेने के लिए जयपुर में खरीददारी, रेस्टोरेंट, बार, पब और सिनेमा के विकल्प हैं। इसके अलावा जयपुर के बाइकर्स भी एंटरटेन के लिए रात में अपनी मोटरसाइकिलों की तेज घर्राहट से जेएलमार्ग को जगाए रखते हैं। जयपुर में जवाहर कला केंद्र जैसे स्थलों पर दिन प्रति दिन लोगों को मनोरंजक शाम उपलब्ध कराने का भार पड़ रहा है। यहां गत एकाध वर्ष में शाम को विजिट करने वालों की संख्या में भारी बढोतरी हुई है। लोग गीत संगीत, कठपुतली शो, नृत्य, थिएटर आदि का आनंद शाम और रात के मध्य वाले इस हिस्से में डूबकर लेना चाहते हैं। यहां बच्चों से लेकर बड़ी उम्र के लोग भी आपको लोक परंपराओं का आनंद उठाते दिखाई दे जाएंगे।

इसके अलावा जयपुर में देर रात तक कई पब भी रोशन रहते हैं। हालांकि समय समय पर ये पब पुलिस की रोक टोक का शिकार होते रहते हैं। पबों और बारों में हुक्के का प्रयोग किये जाने के बाद बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों को इसका चस्का लग गया था और हुक्काबार बंद करने का फरमान जारी कर दिया गया। स्कूल कालेजों के स्टूडेंट और प्रोफेशनल युवा अपनी शाम किसी अच्छे पब और बार में बिताना चाहते हैं। जयपुर में ऐसे युवाओं की संख्या तेजी से बढ रही है। उसी अनुपात में पब और बार की संख्या में भी इजाफा हो रहा है।

जयपुर को मॉल्स की सिटी भी कहा जाने लगा है। शहर के हर इलाके में एकाध मॉल जरूर देखा जा सकता है। शहर का ऐसा कोई कोना नहीं जहां से किसी मॉल की दूरी 3 किमी से ज्यादा हो। इन मॉल्स में खरीददारी के साथ सिनेमा थिएटर भी होते हैं। मॉल में शाम की खरीददारी और रात का शो युवाओं की चर्या में शामिल हो रहा है। भागदौड़ भरी जिंदगी को ये मॉल कुछ आसान करने में सक्षम साबित हुए हैं। इन मॉल्स में आप अपनी जरूरत का सारा सामान खरीदकर, खाना खा-पीकर, रात का शो देखकर, मॉल के चाट कॉर्नर पर रात बारह बजे आइसक्रीम का आनंद लेते हुए घर आ सकते हैं। आज की तेज गति की आधुनिकता में अपने लिया समय निकालने का अर्थ है रात के हिस्से को काटकर कुछ पल संजोना। इसलिए जयपुर नाइटलाइफ का महत्व दिनों दिन बढ़ता जा रहा है।

जयपुर के राजपूताना शेरेटन जैसे होटलों में वर्तमान में रात्रिजीवन को मनोरंजक बनाने के लिए सभी देशी विदेशी उपाय अपनाए जा रहे हैं। लोगों के लिए भोपा-भोपी का खेल, कठपुतली शो, सांस्कृतिक संख्या, पब, बार, डिस्कोथेक, कालबेलिया, रेन डांस फ्लोर आदि सभी का इंतजाम रात्रि जीवन को सुखद बनाने के लिए ही किया जा रहा है।  समय समय पर जयपुर के रामनिवास बाग, सेंट्रल पार्क और एसएमएस इन्वेस्टमेंट ग्राउंड में भी कई गीत संगीत के कार्यक्रम होते हैं जो देर रात तक चलते हैं। जयपुर के लोगों को कवि सम्मेलनों का भी भरपूर शौक है और आप रात्रि के समय रामलीला मैदान में इस तरह के कार्यक्रमों का आनंद ले सकते हैं। कवि सम्मेलनों के अलावा क्लासिकल संगीत, गजलें, रॉक शो, बैंड शो, फैशन परेड आदि सभी जयपुर की रातों को और रंगीन बना देते हैं। इसके अलावा रवीन्द्र मंच भी रात्रि के समय कुछ अच्छे कार्यक्रमों को पेश करता है। यहां अक्सर आप अपनी शाम की शुरूआत एक बेहतर नाटक के साथ कर सकते हैं। जयपुर का सबसे बड़ा और पुराना प्रेक्षागृह आपको एक बेहतर रात्रिजीवन का आरंभ देगा।

जयपुर में लगातार मॉल्स की संख्या तेजी से बढ रही है। और लगभग हर मॉल में दो-तीन सिनेमाघर मौजूद हैं। गत कुछ वर्षों में धड़ाधड़ बने इन मॉल्स ने जयपुरवासियों को देर रात तक घर से बाहर रहने को मजबूर किया है। डिजिटल सिनेमा और आधुनिक चकाचौंध ने मनोरंजन के क्षेत्र को भी व्यापक बना दिया है। रात्रि का शो देखना अब हमारे संस्कारों का अतिक्रमण नहीं करता। साथ ही दैनिक जीवन की भाग-दौड ने शाम का दायरा रात के 12 बजे तक बढ़ा दिया है। अब आप नजदीकी किसी भी मॉल के सिनेमाघर में शांति से रात का शो देखें और लौटते हुए जयपुर की शानदार काली सपाट सड़कों और इमारतों की खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं।

जयपुर के लोकप्रिय सिनेमाघर-

राज मंदिर
बी -16, पांच बत्ती, भगवान दास रोड, जयपुर

लक्ष्मी मंदिर
टोंक फाटक, टोंक रोड, टोंक फाटक, जयपुर

सम्राट सिनेमा
चार दरवाजा, Gangapoi Chaukari, जयपुर

अंकुर सिनेमा
घाट गेट, आगरा रोड, जयपुर

कोरल सिनेमा
जवाहर सर्किल, मालवीय नगर, जयपुर

फ्रर्स्ट सिनेमा
सिटीप्लेक्स भवन, 1, टोंक रोड, आश्रम मार्ग, जयपुर

जयपुर में लोकप्रिय डिस्कोथेक

अमीगोज बार और डिस्कोथेक
चर्च रोड, एम. आई. रोड | होटल ओम टॉवर, जयपुर

चरम डिस्कोथेक
शुभलक्ष्मी टॉवर, सेंट्रल स्पाइन, विद्याधर नगर, जयपुर

अंगारा
एफ -23 डी, Nr सुप्रीम सर्किल, मालवीय एनजीआर औद्योगिक क्षेत्र, मालवीय नगर, जयपुर

वेव्स
होटल महारानी पैलेस, पुल, स्टेशन रोड, जयपुर के अंदर

जयपुर में लोकप्रिय पब और बार

मधुशाला
दिल्ली रोड, के.के. रॉयल होटल और कन्वेंशन सेंटर, आमेर, जयपुर

रंग महल
कानोता  बाग, नारायण सिंह रोड, अशोक नगर, जयपुर

पोलो क्लब
अशोक नगर, जयपुर के पास रामबाग पैलेस, भवानी सिंह रोड,

महारानी एक्सप्रेस
होटल महारानी पैलेस, स्टेशन रोड, जयपुर

हेनरी -पब
पार्क प्राइम होटल, पृथ्वीराज रोड के पास मूर्ति सर्किल, जयपुर

बार कोड – झपट्टा बार
के.के. स्क्वायर, सी -11, पृथ्वीराज रोड, सी स्कीम, जयपुर

Advertisements