प्रसिद्ध वॉयलिन वादक हल्दीपुर को भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान

द मैजिकल बर्मन्स में पंचम दा की धुनों पर झूमे श्रोता 
प्रसिद्ध वॉयलिन वादक हल्दीपुर को भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान 
बॉलीवुड और स्थानीय गायकों की जुगलबंदी ने बांधा समां 

जयपुर, 18 सितंबर।
संगीत को समर्पित संस्था संकल्प कल्चरल सोसायटी की ओर से सुगम संगीत की सुहानी संध्या द मैजिकल बर्मन्स में हिन्दी सिनेमा का यादगार संगीत जीवंत हो उठा. बिड़ला सभागार में शाम 6 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में महान संगीतकार

The musical burmans
Photo provided by Dr. Sanjay Mishra

एसडी बर्मन और आरडी बर्मन को उनके कंपोज किए गए गीतों से श्रद्धाजंलि दी गई। 

 

प्रस्तुत कुल 25 गीतों में एक दिन बिक जायेगा, मैं चली, मैं चली.देखो प्यार की गली, नींद चुराए-चैन चुराए, लूटे कोई मन का नगर, यादों की बारात निकली, रूप तेरा मस्ताना, अकेला हूँ इस दुनिया में. जीवन के हर मोड़ पर, जिस गली में तेरा घर जैसे सदाबहार नगमों पर संकल्प के सदस्यों ने शानदार प्रस्तुति दी. वहीँ मुम्बई से सर्वेश मिश्रा, मेघा शर्मा और सुमंत मुखर्जी ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। मेघा शर्मा ने दम मारो दम की दमदार प्रस्तुति दी. 


2016 का भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान जाने-माने वॉयलिन आर्टिस्ट

Amar Haldipur
Photo provided by Dr. Sanjay Mishra

और म्यूजिक अरेंजर अमर हल्दीपुर को प्रदान किया गया. संकल्प के फाउंडर राजेश शर्मा, राजेश जैपुरिया और श्याम बजाज ने श्री हल्दीपुर को सम्मान-पत्र, 51 हजार रुपए की धनराशि और श्रीफल प्रदान किया. करीब 350 फिल्मों में पाश्र्व संगीत देने वाले हल्दीपुर ने वॉयलिन के सुरीले सुरों से सबको मुग्ध कर दिया। 

 
कार्यक्रम की शुरुआत सर्वेश मिश्रा और राजश्री ने गणेश और सरस्वती वंदना से की. दुनिया में लोगों गीत पर इंस्ट्रुमेंटल प्रस्तुति दी. इस मौके पर मोहब्बते फेम जितेंद्र एस ठाकुर ने भी वॉयलिन पर स्पेशल परफॉर्मंस दी. निर्मल कुमार मुखर्जी, अरविंद हल्दीपुर, समीर दा और युसूफ मोहम्मद जैसे ख्यात संगीतकारों ने संगत की। कार्यक्रम का संयोजन जीतू भाई ठाकुर और प्रताप राथ ने किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में संगीत प्रेमी श्रोतागण मौजूद थे.  
Advertisements