गोस्वामी तुलसीदास जयंती 2018

तुलसी जयंती 2018

Tulsi-Jayanti-2018जयपुर 17 अगस्त 2018 – रोटरी भवन में रोटरी क्लब जयपुर एवं तुलसी मानस संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित तुलसी जयंती कार्यक्रम में ‘आज की युवा पीढ़ी को संस्कारक्षम कैसे बनाया जाय-संदर्भ राम चरित मानस’ विषय मुख्य वक्ता डॉ इंदुकुमार तत्पुरुष,अध्यक्ष राजस्थान साहित्य अकादमी ने विचार व्यक्त करते हुए मानस के विभिन्न प्रसंगों के माध्यम से Tulsi-Jayanti-2018-2बताया कि किस तरह हम आजके भटके युवा वर्ग को सही मार्ग पर लाकर उसे सही संस्कार दे सकते हैं । मुख्य अतिथि स्वामी राघवाचार्य जी ने दु:ख प्रकट करते हुए कहा कि जब से पाठ्यक्रमों से रामायण-गीता जैसे संस्कार देने वाले ग्रन्थों को धर्मनिर्पेक्षता के नाम पर बाहर निकाल दिया गया तब से हमारे बालक-बालिकाएँ उन संस्कारों से वंचित होगए जिनका उनके जीवन में महत्व था । परिणाम हमारे सामने है । मानस का लक्ष्मण-परशुराम संवाद युवाओं में जान फूँक देता था । अपने अद्यक्षीय उद्बोधन में देवर्षि कलानाथ शास्त्री ने इस बात पर विशेष बल दिया की युवावर्ग को राम चरित मानस जैसे ग्रन्थों का नियमित अध्ययन करना चाहिए ।

कार्यक्रम के अंत में देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए एक शोक प्रस्ताव पारित कर कार्यक्रम समाप्त हुआ ।

रोटे. जे.डी. माथुर

अध्यक्ष

रोटरी क्लब जयपुर
Advertisements