मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में मीडिया एवं कम्यूनिकेषन पर 14 वीं अर्न्तराष्ट्रीय ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन कांफ्रेस 11 एवं 12 अक्टूबर को

मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में मीडिया एवं कम्यूनिकेषन पर 14 वीं अर्न्तराष्ट्रीय ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन कांफ्रेस 11 एवं 12 अक्टूबर को

– कांफ्रेस में इंटरनेट कम्यूनिकेषन सहित कई मीडिया विषयों पर विषेषज्ञ करेंगे चर्चा

जयपुर, 5 अक्टूबर, 2018। ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन – जीसीए मीडिया एवं कम्यूनिकेषन प्रोफेषन्लस के लिए एक नॉट-फॉर-प्रोफिट संस्था है, जो कि समय-समय पर विष्व में मीडिया एवं कम्यूनिकेषन पर अनेक कांफ्रेस आर्गेनाइज कराती रहती है। इसी क्रम में 14 वीं इंटरनेषनल ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन कांफ्रेस 11 एवं 12 अक्टूबर को मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में संचालित स्कूल ऑफ मीडिया एंड कम्यूनिकेषन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित की जाएगी।

इस दो दिवसीय मीडिया कम्यूनिकेषन के महाकुंभ में देष-विदेष से पत्रकारिता षिक्षा के जाने-माने षिक्षाविद्, पत्रकार, कम्यूनिकेषन प्रोफेषन्लस, षिक्षक, रिसर्च स्कालर्स, विद्यार्थी भाग लेंगे। इसके साथ ही भारत, यूएस एवं यूरोप के कोरपोरेट हाउसेज, मीडिया यूनिवर्सिटीज, कम्यूनिकेषन इन्सटीट्यूट, कोरिलेटेड सर्विस ऐजेंसीज, गर्वन्मेंट बॉडीज, नॉट-फॉर-प्रोफिट आर्गेनाइजेषन के प्रतिनिधि भाग लेंगे। कांफ्रेस क्यूरेट्रर एंड आर्गेनाइजिंग सेक्रेटी, कृष्णा बी. मरीयंका ने बताया कि कांफ्रेस के आयोजन का प्रभुख उद्देष्य सूचनाओं का आदान-प्रदान, सांस्कृतिक समन्वय को प्रोत्साहित करना, रिसर्च में नए आयाम स्थापित करना, इंटर-इन्स्टीट्यूषनल कोलेब्रेषन एवं ग्लोबल नेटवर्क को बढ़ावा देना है।

जीसीए जयपुर 2018 कांफ्रेस का मुख्य थीम डीजिटल इनबाउंड: इंटरनेट कम्यूनिकेषन एंड बीयोंड है। साथ ही वर्तमान में डिजिटल युग में कम्यूनिकेषन में विभिन्न प्रकार के परिवर्तन आ रहे है। साथ ही तकनीकी परिवर्तन से भी संचार पर प्रभाव आ रहा है। इन परिवर्तनों में सोषियल मीडिया, ईमेल, ब्लॉग्स आदि महत्वपूर्ण भमिका निभा रहे है। इस प्रकार के परिवर्तनों से व्यापार, राजनीति, मीडिया, संचार, संस्कृति भी अछुती नहीं रही है। देष एवं विदेष के विभिन्न विष्वविद्यालयों से करीब 50 से अधिक स्कार्ल्स कांफ्रेस की थीम से संबंधित विभिन्न विषयों पर अपने शोध पत्र पढ़ेंगे।

ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन के चैअरमेन, प्रो. याहिआ आर कमलीपुर ने बताया कि जीसीए की स्थापना 2007 में वेष्वीक स्तर पर विभिन्न विष्वविद्यालयों में षिक्षकों एवं विद्यार्थियों में शैक्षणिक शोध के विकास के लिए की गई। इसके साथ ही जीसीए अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर कॉरपोरेट एक्जीक्यूटिव, कम्यूनिकेषन स्पेषलिस्ट, पॉलीसी मेकर्स, एकेडीमिसियन्स, ब्यूरोक्रेट्स, पोलिटिकल लीडर्स, पब्लिक रिलेषन्स प्रेक्टीषनर्स एवं संबंधित इंडस्ट्री प्रोफेषनल्स को एक ही छत के नीचे मिलने का, विचारों के आदान प्रदान का एवं नइ आईडियाज के साथ में संबंध स्थापित करने में योगदान प्रदान करती है।

उन्होंने बताया कि इस जीसीए कांफ्रेस से पूर्व करीब एक दषक में कनाड़ा, मलेषिया, ओमान, चाईना, इंडिया, पोलेंड, जाम्बिया, रषिया, जर्मनी, यूएसए एवं स्पेन के जाने माने स्थापित विष्वविद्यालयों में जीसीए अर्न्तराष्ट्रीय कांफ्रेस आयोजित करवा चुका है। इनमें शंघाई युनिवर्सिटी, सुल्तान क्बॉस, मणिपाल विष्वविद्यालय, जॉन पॉल द्वितीय कैथोलिक विष्वविद्यालय ऑफ ल्यूबिन, द पॉनटीफिकल युनिवर्सिटी ऑफ जॉन पॉल द्वितीय, एषिया पेसिफिक युनिवर्सिटी कॉलेज टेक्नोलॉजी एंड इनोवेषन, मीडिया इंस्टीट्यूट ऑफ साउर्थन अफ्रिका, साई पॉफ युनिवर्सिटी, पियाटिगोरसक स्टेट लिग्युस्टिक युनिवर्सिटी, क्रीस्ट युनिवर्सिटी, स्टूगर्ट मीडिया युनिवर्सिटी, युनिवर्सिटी ऑफ मैसूर, हाई पाइंट युनिवर्सिटी, इलोन युनिवर्सिटी, नोर्थ केरोलिना ए एंड टी स्टेट युनिवर्सिटी, द युनिवर्सिटी ऑफ नोर्थ केरोलिना एंट ग्रीनसेब्रो, विन्सटन सलीम स्टेट युनिवर्सिटी कॉलेज ओमान, रे जॉन कारलोस युनिवर्सिटी आदि प्रमुख है। इस कांफ्रेस का प्रमुख उद्देष्य इंडस्ट्री, रिसर्च एंव एकेडेमिक प्रोफेषनल्स को एक मंच पर एकत्रीत कर सस्कृती को प्रमोट करना, विभिन्न प्रकार की चुनौतियों की पहचान करना, पब्लिक रिलेषन्स, मीडिया एंड कम्यूनिकेषन से संबंधित नवीन ज्ञान का आदान-प्रदान करना है। मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर के प्रेसिडेंट, प्रो. जी. के. प्रभु ने इस कांफ्रेस के आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त की है।

इस कांफ्रेस के दौरान ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन की ओर से ग्लोबल कम्यूनिकेषन एसोसिएषन जयपुर 2018 इंटरनेषनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन मीडिया एंड कम्यूनिकेषन 2017-18 भी कम्यूनकेशन में शैक्षणिक, सरकारी, कॉरपोरेट, गैरसरकारी, मीडिया, पब्लिक रिलेषन्स ऐजेन्सी, कन्सलटेंसी, परफॉरमिंग आर्ट सहित 9 अवार्ड उनको दिए जाएंगे जिन्होंने इन क्षेत्रों में उत्कृष्ट सेवाएं दी है। इसके साथ ही गत 9 सालों में भारत में यह चौथा इवेंट ओर्गेनाइज किया जा रहा है।

डॉ. रमेष कुमार रावत
एसोसिएट प्रोफेसर, डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मॉस 
मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर