मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में एसएपी ट्रेनिंग आयोजित

Organized SAP Training

मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में एसएपी सॉफ्टवेअर की दो महीने से चल रही ट्रेनिंग का समापन 24 नवंबर को एक समारोह में प्रमाण पत्र वितरण के साथ किया गया। एसएपी दुनिया का माना हुआ ईआरपी सॉफ्टवेअर है। समापन समारोह में मणिपाल विष्वविदयालय के डीन, इंजिनियरिंग, प्रो. जगन्नाथ, एससीआईटी निदेषक, प्रो. राजवीर सिंह शेखावत, कम्यूटर सांइस के विभागाध्यक्ष, प्रो. एस. सी. कुल्हारी, प्रो. यषपाल सोनी एवं टेकएक्सास कंपनी के कन्सलटेंट ने प्रमाण पत्र वितरित किए। इस अवसर पर प्रो. जगन्नाथ एवं प्रो. राजवीर सिंह शेखावत ने प्रतिभागियों से इस ट्रेनिंग का भविष्य में अधिक से अधिक लाभ उठाने का आह्वान किया। एससीआईटी में एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत प्रो. यषपाल सोनी एवं उनकी टीम गत एक महीने से इस ट्रेनिंग कार्यक्रम को संचालित कर रहे थे। प्रो. यषपाल ने बताया कि यह प्रषिक्षण कार्यक्रम मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर में संचालित एससीआईटी एवं टेक एक्सास कंपनी के सहयोग से प्रथम बार एमयूजे के विद्यार्थियों एवं फेकल्टी सदस्यों के लिए आयोजित किया गया। प्रषिक्षण कार्यक्रम में उन्होंने ईआरपी के उद्भव एवं विकास, ईआरपी के विभिन्न सॉफ्टवेअर के बारे में जानकारी दी। उन्होंने प्रतिभागियों को एसएपी का प्रषिक्षण देते हुए एफआई, पीपी, क्यूएम, बीआई, सीओ, एमएम, एसपी एवं पीएस के विभिन्न टीकोड के बारे में बताया एवं इसकी प्रायोगिक जानकारी दी। प्रो. यषपाल ने पीपीटी प्रजन्टेषन, वीडियो प्रजन्टेषन के माध्यम से अपने इन्डस्ट्री के अनुभवों को साझा करते हुए एसएपी का इन्डस्ट्री में उपयोग करते हुए बेहतरीन नौकरी प्राप्त करने के टिप्स भी दिये। उन्होंने बताया कि एसएपी मे दक्षता हासिल करने के बाद विभिन्न प्रोजेक्ट्स पर कार्य करते हुए प्रारंभ से कुछ सालों के अनुभव तक 3 लाख से 1.5 करोड़ तक सालाना इनकम एक एसएपी कन्सलटेंट कमा सकता है। प्रो. यषपाल के साथ एसएपी के लीड कन्सलटेंट अभिषेक कुमावत, एफआई एवं सीओ कन्सलटेंट नरेंद्र पाल, एचआर कन्सलटेंट अनिल सिंह ने भी प्रतिभागियों को इस मासिक प्रषिक्षण में समय-समय पर प्रषिक्षण दिया। इस मासिक प्रषिक्षण कार्यक्रम में विष्वविद्यालय की फेकल्टी सदस्यों में डॉ. रमेष रावत, डॉ. प्रकाष रमानी, डॉ. नरेंद्र यादव, विद्यार्थी ओमदेव दलसानिया, श्रेया खंडेलवाल, सार्थक अग्रवाल, उमंग अग्रवाल, आयूष काकाणी सहित अनेक विद्यार्थियों एवं फेकल्टी सदस्यों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया।

डॉ. रमेष कुमार रावत

एसोसिएट प्रोफेसर, डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मॉस कम्यूनिकेषन

मणिपाल विष्वविद्यालय जयपुर

Advertisements