प्रेरणा अरोरा सिंह वैश्विक सड़क सुरक्षा संगठन (global alliance of NGOs for road safety) की निदेशक बनने वाली पहली भारतीय एवं पहली एशियन महिला

प्रेरणा अरोरा सिंह ने वैश्विक सड़क सुरक्षा संगठन (global alliance of NGOs for road safety) के ग्रीस में आयोजित जनरल असेंबली 2019 में हुए चुनाव में बोर्ड निदेशक (Board Director) के पद पर जीत हासिल की है . प्रेरणा सिंह पहली भारतीय एवं पहली एशियन महिला है जिन्होंने इस पद पर जीत हासिल की है . इस इलेक्शन में प्रेरणा सिंह (भारत) के अतिरिक्त ब्राजील, कनाडा, अफ्रीका, मलेशिया एवं थाईलैंड के प्रतिभागी भी थे ।

Asian woman to become director of global alliance of NGOs for road safety

अपनी इलेक्शन स्पीच में प्रेरणा सिंह ने इस बात पर विशष जोर दिया की “ आज भारत एवं अन्य विकासशील देशों में सड़के सिर्फ कार चालकों को ध्यान में रख कर बनायीं गयी है जबकि इन सड़कों को सभी प्रकार के वाहन एवं पदयात्री भी उपयोग करते है अत: हमें सड़के सभी लोगों की जरूरतों एवं सुरक्षा को ध्यान में रख कर बनानी होंगी. सड़क सुरक्षा सबकी सांझी जिम्मेदारी है, इन दुर्घटनाओ को कम करने हेतु सभी सरकारी, निजी एवं गैर सरकारी संगठनों को एक साथ कार्य करना होगा एवं आम जन को भी इन उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु आगे आना होगा तभी हम अपने लोगो को इन अकाल मौतों से बचा पाएंगे”

गोरतलब है की वैश्विक सड़क सुरक्षा संगठन (global alliance of NGOs for road safety) जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड स्थापित संस्था है जो की वर्ष 2012 में विश्व स्वास्थ संगठन के सहयोग से बनाई गयी थी जिसका मुख्य उद्देश्य सड़क सुरक्षा दशक के उद्देश्यों को प्राप्त करना है. संयुक्त राष्ट्र द्वारा वर्ष 2010 में मास्को डिक्लेरेशन द्वारा वर्ष 2011 से वर्ष 2020 तक सड़क सुरक्षा दशक घोषित किया गया है एवं SDG गोल 3.6 में वर्ष 2030 तक सड़क दुर्घटनाओ में होने वाली मौतों एवं घायलों की संख्या को 50 प्रतिशत तक कमी लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है ।

इस वैश्विक संगठन में 90 देशों के करीब 225 गैर सरकारी संगठन सक्रिय सदस्य है जो की अपने- अपने देशों में सड़क सुरक्षा दशक (decade of action for road safety) के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए अपनी सक्रिय भागीदारी निभा रहे है।

प्रेरणा अरोरा सिंह, जो की स्वं एक सड़क दुर्घटना पीड़ित है एवं उन्होंने सड़क दुर्घटना में अपने कजिन भाई को खोया है, वर्ष 2004 से भारत, विशेषरूप से राजस्थान, में सड़क सुरक्षा के शेत्र में सक्रिय रूप से काम कर रही है. वह भारत में सड़क सुरक्षा के शेत्र में कार्य कर रहे कई संगठनो एवं सरकारी समितियों में सदस्य के रूप में अपनी सेवाए दे रही है ।

वर्तमान में प्रेरणा सिंह सेंटर फॉर रोड सेफ्टी, सरदार पटेल पुलिस विश्वविद्यालय राजस्थान में फाउंडर सेंटर कोऑर्डिनेटर एवं पीपुल्स ट्रस्ट जयपुर की चेयरपरसन के रूप में कार्यरत है. साथ ही राजस्थान ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट समिति की भी सक्रिय सदस्य है. अपने एक दशक से भी लम्बे कार्यकाल में प्रेरणा सिंह ने सड़क सुरक्षा के कई राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय परियोजनाओ को सफलता पूर्वक संचालित किया है जिसमे राजस्थान में हेलमेट एडवोकेसी परियोजना, फर्स्ट ऐड ट्रेनिंग प्रोग्राम्स, क्रेश इन्वेस्टीगेशन ट्रेनिंग प्रोग्राम, टीचर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम, पप्पू ज़ेबरा सड़क सुरक्षा कार्यक्रम #1croresteps कार्यक्रम इत्यादी प्रमुख है ।